1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

रईस पर बवाल: सरकार किसी की हो, "असली किंग राज ठाकरे हैं"

अपनी आने वाली फिल्म 'रईस' को लेकर फिक्रमंद बॉलीवुड स्टार शाहरुख खान एमएनएस प्रमुख राज ठाकरे से मुलाकात को लेकर चर्चा में हैं.

शाहरुख की चिंता का कारण है उनकी फिल्म में पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान का मुख्य भूमिका में होना. इसलिए फिल्म की रिलीज में दिक्कत हो सकती है. इससे पहले, करण जौहर की फिल्म 'ए दिल है मुश्किल' को लेकर काफी विवाद हुआ था क्योंकि उसमें पाकिस्तानी एक्टर फवाद खान थे. एमएनएस ने उन फिल्मों की रिलीज का विरोध करने की घोषणा की है जिनमें पाकिस्तानी कलाकारों ने काम किया हो.

शाहरुख खान रईस के निर्माता रितेश सिदवानी और एमएनएस की फिल्म शाखा के प्रमुख अमेया खोपकर के साथ राज ठाकरे से मिलने गए. मीडिया रिपोर्टों के अनुसार ठाकरे ने कहा, "यह बैठक इन रिपोर्टों पर सफाई देने के लिए हुई कि पाकिस्तानी कलाकार फिल्म का प्रमोशन करेंगे. वे कहना चाहते थे कि प्रमोशन के लिए कोई पाकिस्तान कलाकार भारत नहीं आएगा. उन्होंने यह भी भरोसा दिलाया है कि जब तक दोनों देशों के बीच हालात सुधर नहीं जाते, तब तक वे पाकिस्तानी कलाकारों को फिल्मों में नहीं लेंगे.”

अभिनेता कमाल खान ने इस मुलाकात पर तंज करते हुए लिखा है कि महाराष्ट्र में सरकार चाहे किसी की भी हो, राज ठाकरे निर्विवाद रूप से किंग हैं.

दूसरी तरफ, भारतीय मूल के कनाडाई नेता और वकील उज्ज्वल दोसांझ ने किंग खान के नाम से मशहूर शाहरुख खान के नाम एक खुला खत लिखा है जिसमें राज ठाकरे से उनकी मुलाकात पर अफसोस जताया गया है. सख्त शब्दों का इस्तेमाल करते हुए इसमें कहा गया है, "मैंने कभी नहीं सोचा था कि आप, एक किंग, किसी गुंडे के ऐसे गैरकानूनी कामों के आगे झुक जाएंगे." उन्होंने इस मुलाकात को नफरत की जीत बताया है.

इन सात के पीछे पड़ी है एमएनएस, देखिए

वहीं, मुंबई कांग्रेस के अध्यक्ष संजय निरुपम ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस पर हमला करते हुए कहा है कि यह शर्मनाक बात है कि शाहरुख खान को अपनी फिल्म रिलीज करने के लिए राज ठाकरे की इजाजत लेनी पड़ रही है.

आकाश भारद्वाज नाम के एक ट्विटर यूजर ने राज ठाकरे को नया सेंसर बोर्ड बताया है.

शाहरुख से मुलाकात के बाद महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना को कहा है कि वह रईस फिल्म की रिलीज में कोई बाधा नहीं डालेगी. उड़ी हमले के बाद भारत में जहां पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, वहीं पाकिस्तान में भारतीय फिल्मों और टीवी चैनलों पर पर रोक लगा दी गई है.

देखिए ये हैं भारत की सबसे कमाऊ फिल्में

DW.COM

संबंधित सामग्री