1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

पार्टनर चुनने में डांस करेगा मदद

पार्टनर चुनते वक्त आप किसी की शक्ल सूरत, स्वभाव और गुणों को कितना महत्व देते हैं. ऐसे कई सवाल तो थे ही, अब रिसर्चर पता लगा रहे हैं कि हिलने डुलने के तरीके से क्या किसी के बारे में कुछ पता चलता है?

प्यार शायद दुनिया का सबसे बड़ा रहस्य है. ऐसा कोई फॉर्मूला अब तक तैयार नहीं हुआ है कि सुयोग्य जीवनसाथी कैसे चुना जाए? लेकिन बैर्नहार्ड फिंक के पास इसका जवाब होना चाहिए. वह विकासवादी जीवविज्ञानी हैं और उन्होंने 15 साल इस बात पर शोध किया है कि सही पार्टनर कैसे खोजा जाए.

डॉ. बैर्नहार्ड फिंक कहते हैं, "आम तौर पर आप लैब में प्रयोग के लिए लोगों को कंप्यूटर के सामने बिठा देते हैं और कहते हैं कि इस चेहरे और इस शरीर के आकर्षण के बारे में अपनी राय दो. लेकिन यह तो सच्चाई का बस एक पहलू है. लोग लगातार अपनी राय बदलते रहते हैं.”

यही वजह है कि बैर्नहार्ड फिंक डांस एक्सपेरिमेंट करते हैं. उनकी टीम एक खास कैमरा सिस्टम विकसित कर रही है जो डांस करते लोगों के वीडियो को एनीमेटेड ग्राफिक्स में बदल देता है. वैज्ञानिक चाल ढाल के असर पर ध्यान देना चाहते हैं, पोशाक, शरीर या चेहरे से भटके बिना. डॉ. बैर्नहार्ड फिंक का कहना है, "हम डांस मूवमेंट्स को इसलिए स्टडी कर रहे हैं क्योंकि हमारी अवधारणा है कि महिलाओं को मजबूत पुरुषों के डांस मूवमेंट ज्यादा आकर्षित करते हैं.”

देखिए सांबा की मस्ती के सौ साल

टेस्ट में शामिल लोगों को डांस फ्लोर पर भेजने से पहले उनके सीने और कंधों की चौड़ाई और जोखिम लेने की तैयारी को मापा जाता है. परीक्षण में शामिल महिलाओं को पुरुषों के आकर्षण के बारे में बताना होता है. डांस का प्रदर्शन शुरू होता है. पुरुष अपनी कला दिखाते हैं और महिलाएं उनका मूल्यांकन करती हैं.

रिफ्लेक्टिव मार्करों का इस्तेमाल कर कंप्यूटर पर एक वर्चुअल किरदार बनाया जाता है, नाचते मर्द की आकृति. महिलाओं को पता नहीं होता कि वे किस पुरुष को देख रही हैं. आकर्षण का पता लगाने के लिए गले, कंधों और पिछले हिस्से के अलग अलग मूवमेंट की जांच होती है. लैब टेस्ट यही बताते हैं. 

देखिए बॉलीवुड से जुंबा

अंगुलियों के निशान की तरह शरीर का मूवमेंट भी हर इंसान में अलग होता है. वे हमें उनके चरित्र की जानकारी देते हैं. अगर ऐसा कोई संकेत ना हो जो स्पष्ट दिखाई दे तो महिलाएं जोश से चलने वाला पार्टनर चुनती हैं.

डॉ. बैर्नहार्ड फिंक बताते हैं, "मर्दाने चेहरे और ताकतवर शरीर वाले फीचर महिलाओं को पुरुष के स्टेटस के बारे में कुछ बताते लगते हैं. मतलब ये है कि यहां एक तरह से पार्टनर की क्वॉलिटी की तलाश होती है, जिसे जीवविज्ञानी अच्छा जीन बताते हैं. और ये सिर्फ स्वास्थ्य का पहलू ही नहीं है बल्कि संभावित प्रतिद्वंद्वियों से प्रतिस्पर्धा में जीतने की क्षमता से भी इसका लेना देना है.”

साफ है कि महिलाओं को रिझाने के लिए सुपर स्टारों के मूवमेंट की नकल करने की जरूरत नहीं. असली जिंदगी में पार्टनर चुनते समय असली रहना जरूरी है. इसे पसंद भी किया जाता है.

DW.COM