1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

मक्का की मस्जिद में काबा के पास आत्मदाह की कोशिश

सऊदी शहर मक्का में मुसलमानों के सबसे पवित्र स्थल मस्जिद-उल-हराम में एक व्यक्ति ने आत्मदाह करने की कोशिश की. पुलिस ने इस व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है और उसे मानसिक रूप से बीमार बताया है.

मस्जिद-उल-हराम पुलिस के प्रवक्ता मेजर सामेह अल-सलामी ने बताया कि आत्मदाह की कोशिश करने वाला व्यक्ति सऊदी नागरिक ही है और उसकी उम्र 40 साल से ज्यादा है. उन्होंने बताया कि इस व्यक्ति ने खुद पर पेट्रोल डाला और आग लगाने की कोशिश की.

प्रवक्ता के मुताबिक, "इस व्यक्ति के व्यवहार से लगता है कि वह मानसिक रूप से बीमार है." इसके अलावा उसके बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है. पुलिस ने यह भी नहीं बताया है कि इस व्यक्ति के खिलाफ क्या कार्रवाई की गई है. यह घटना सोमवार की है और काबा के बिल्कुल नजदीक घटी.

देखिए हज में क्या करते हैं लोग

सोशल मीडिया पर पोस्ट की गई फुटेज में देखा जा सकता है कि इससे पहले यह व्यक्ति खुद को आग लगा पाता, उसे श्रद्धालु और पुलिस वहां से दूर ले गए. हालांकि इस वीडियो की पुष्टि अभी तक नहीं हो पाई है.

चश्मदीदों ने सऊदी मीडिया को बताया है कि काबा को ढकने वाले काले और मखमली कपड़े किसवाह को भी आग लगाने की कोशिश की. एक चश्मदीद ने समाचार वेबसाइट सब्क को बताया कि यह व्यक्ति दुनिया भर में हमलों को अंजाम देने वाले इस्लामी चरमपंथियों से संबंधित नारे लगा रहा था.

मक्का की मस्जिद-उल-हराम में बड़ी मात्रा में श्रद्धालु आते हैं जिसके कारण उसके प्रवेश द्वारों पर सख्ती से सुरक्षा जांच का काम जटिल होता है. नवंबर 1976 में एक सऊदी नागरिक जुहयमान अल-ओतेबी के नेतृत्व में 400 से ज्यादा लोगों ने मस्जिद-उल-हराम पर कब्जा कर लिया था. उन्होंने कई श्रद्धालुओं को बंधक बना लिया. सुरक्षा बलों को मस्जिद परिसर को खाली कराने में पंद्रह दिन लगे थे.

एके/वीके (एएफपी, रॉयटर्स)

ये हैं दुनिया की सबसे बड़ी मस्जिदें

DW.COM

संबंधित सामग्री