1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'किसने फैलाई भारतीय सेना के एलओसी पार करने की खबर'

भारत में बुधवार को एक खबर ने लोगों का खूब ध्यान खींचा. खबर ये कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा को पार कर 20 लोगों को मार गिराया है.

जहां भारत सरकार अब तक ये सोच रही थी कि उड़ी हमले का किस तरह जवाब दिया जाए, वहीं बुधवार को एक ऐसी खबर ने लोगों का खूब ध्यान खींचा जिसकी अब तक कोई पुष्टि नहीं हो पाई है. खबर ये कि भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा को पार कर 20 लोगों को मार गिराया है.

अगर ऐसा होता तो ये बहुत ही बड़ी खबर थी. लेकिन इक्का दुक्का मीडिया संस्थानों के अलावा ये खबर कहीं नहीं थी, जबकि सोशल मीडिया और फेसबुक पर बहुत से लोग इस बारे में बात कर रहे थे. इस बारे में खबर देने वाले क्विंट ट्वीट ने किया, “सूत्रों ने फिर कन्फर्म किया है: विशेष बलों ने नियंत्रण रेखा को पार किया, 20 और 21 सितंबर की रात को 20 आतंकवादियों को मार दिया.”

लेकिन भारतीय मीडिया की रिपोर्टों के मुताबिक सेना के सूत्रों ने भी इस तरह को घटना होने से इनकार किया और कई लोगों ने इस बारे में ट्वीट भी किया है.

पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने ट्वीट किया, “तो इस खबर को किसने फैलाया कि भारतीय ने नियंत्रण रेखा को पार कर 20 पाकिस्तानी आतंकवादियों को मार गिराया है? इसका मकसद क्या है?”

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने इस पर सवाल उठाते हुए ट्वीट किया, “लगता है कि हमारे विशेष बलों ने एलओसी को पार किया, कुछ ट्रेनिंग कैंपों को उन्होंने तबाह कर दिया और सकुशल वापस लौट आए. कोई बताए कि फिर पाकिस्तानी सेना शांत क्यों है.”

इस पर एक यूजर बशीर आबिद ने ट्वीट किया, “मतलब उन्होंने हेलीकॉप्टर से एलओसी को पार किया, आतंकवादी घरों को तबाह किया और घर आ गए. पाकिस्तान को पता भी नहीं चला. #Dreams”

वहीं एक ट्विटर यूजर्स प्रीति शर्मा मेनन ने लिखा, “शर्म करो! पाकिस्तानी आतंकवाद का कोई गंभीर जबाव देने की बजाय भारतीय सेना के एलओसी पार करने की झूठी कहानी फैलाई जा रही है. ”

पृथ्वीजीत मुखर्जी ने ट्वीट किया, “हाहा! एलओसी को पार किया और पाकिस्तान खामोश रहा? वो भी तब जब संयुक्त राष्ट्र महासभा चल रही है. इस कपोलकल्पना से हैरान हूं.”

जानिए, पाकिस्तान को क्या जवाब दे सकता है भारत

DW.COM

संबंधित सामग्री