1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत ने किया अग्नि-5 मिसाइल का एक और परीक्षण

भारत ने अब तक की सबसे ज्यादा दूरी तक मार करने वाली अग्नि मिसाइल का सफल परीक्षण किया है. सोमवार को ओडिशा के तट पर कलाम द्वीप से इस अग्नि-5 का सफल परीक्षण किया गया.

यह मिसाइल पूरी तरह भारत में तैयार की गई है और पांच हजार किलोमीटर तक मार करने की क्षमता रखती है. यह मिसाइल परमाणु बम को दागने की क्षमता से लैस है.

अग्नि-5 भारतीय मिसाइलों की उस श्रंखला की कड़ी है जिसके तहत कम और मध्यम दूरी की मिसाइलों का परीक्षण पहले ही किया जा चुका है. अग्नि-5 का यह पांचवां परीक्षण था. इससे पहले के चार परीक्षण भी सफल रहे थे. वैज्ञानिकों का कहना है कि अग्नि-5 का भारत के हथियारों के जखीरे में शामिल होना एक अहम कदम है क्योंकि इससे भारत की मारक क्षमता में महत्वपूर्ण बढ़ोतरी हुई है और अपने दुश्मनों पर उसे बड़ी बढ़त मिली है. अग्नि-5 की रेंज पांच हजार किलोमीटर है और यह एक हजार किलोग्राम वजनी बम ढो सकती है. 17 मीटर लंबी इस मिसाइल का वजन 50 टन है.

देखिए, डिफेंस बजट में रूस से भी आगे है भारत

अग्नि के अभी दो और परीक्षण होने हैं. उनके सफल रहने के बाद ही इसे भारतीय सेना में शामिल किया जाएगा. अग्नि-5 का यह परीक्षण इसलिए भी अहम है क्योंकि भारत अभी हाल ही में 35 देशों के अंतरराष्ट्रीय संगठन मिसाइल टेक्नॉलजी कंट्रोल रेजीम का सदस्य बना है. इस संगठन का मकसद दुनिया में परमाणु हथियारों के प्रसार पर लगाम लगाना है.

अग्नि श्रंखला की शुरुआत 1989 में हुई थी जब पहली अग्नि मिसाइल का परीक्षण किया गया था. अग्नि-1 700 किलोमीटर दूर मार कर सकती है. अग्नि-2 की क्षमता 2000 किलोमीटर तक मार करने की है जबकि अग्नि-3 और अग्नि-4 की रेंज 2500 से 3500 किलोमीटर के बीच है.

तस्वीरों में: दुनिया की 10 सबसे बड़ी सेनाएं

ऐसी खबरें हैं कि अग्नि-6 बनाने का काम शुरू हो चुका है. मीडिया में आ रही रिपोर्टों को सही माना जाए तो अग्नि-6 की रेंज आठ से 10 हजार किलोमीटर होगी.

वीके/एके (पीटीआई)

DW.COM

संबंधित सामग्री