फर्जी खबर पर पाक रक्षा मंत्री ने दी परमाणु हमले की धमकी | दुनिया | DW | 26.12.2016
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फर्जी खबर पर पाक रक्षा मंत्री ने दी परमाणु हमले की धमकी

एक फर्जी खबर पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ने परमाणु हथियारों के इस्तेमाल तक की बात कह दी. इस पर इस्राएल ने भी जवाब दिया है.

पाक रक्षा मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने एक खबर पर प्रतिक्रिया में ट्वीट किया जिसमें उन्होंने कहा कि इस्राएल भूले नहीं, पाकिस्तान के पास भी परमाणु हथियार हैं. आसिफ ने लिखा, "इस्राएली रक्षा मंत्री का कहना है कि सीरिया में दाएश (आईएस) के खिलाफ पाकिस्तान की संदिग्ध भूमिका के चलते परमाणु हथियारों के इस्तेमाल की धमकी दी है. इस्राएल भूल रहा है कि पाकिस्तान भी एक परमाणु देश है."

लेकिन पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ने जिस खबर पर यह प्रतिक्रिया दी है, वह फर्जी है. इसे एडब्ल्यून्यूज डॉट कॉम ने प्रकाशित किया है. 20 दिसंबर को छपी इस खबर में लिखा गया है, "अगर पाकिस्तान ने सीरिया में अपनी सेना भेजी तो हम परमाणु हमले से इस देश को बर्बाद कर देंगे: इस्राएली रक्षा मंत्री." इस वेबसाइट पर और भी ऐसी फर्जी खबरें पड़ी हैं. मसलन क्लिंटन ट्रंप के तख्तापलट की तैयारी कर रही हैं. लेकिन इस्राएली रक्षा मंत्री के हवाले से जो बयान छापा गया है, उसमें तो रक्षा मंत्री का नाम भी गलत लिखा है. खबर में मोशे यालून का नाम लिखा है जबकि अब रक्षा मंत्री एविग्डर लीबरमान हैं. यालून पिछले रक्षा मंत्री थे.

तस्वीरों में देखिए, कितनी दमदार है इस्राएली सेना

आसिफ के ट्वीट पर इस्राएली रक्षा मंत्रालय ने ट्वीट किया है कि यह खबर जाली और काल्पनिक है. ट्वीट्स के जरिए इस्राएल ने जवाब दिया है, "पाकिस्तान के बारे में जो बयान पूर्व रक्षा मंत्री यालून के हवाले से छापा गया है, वह कभी नहीं दिया गया." एक अन्य ट्वीट में कहा गया, "पाकिस्तानी रक्षा मंत्री ने जिस रिपोर्ट का हवाला दिया है, वह जाली है."

 

यह खबर लिखे जाने तक भी पाकिस्तानी रक्षा मंत्री का ट्वीट हटाया नहीं गया है. 23 दिसंबर सुबह 10 बजकर 53 मिनट पर किया गया यह ट्वीट अब तक तीन हजार से ज्यादा बार रीट्वीट हुआ है.

फर्जी खबरों को लेकर पूरी दुनिया में चिंता जताई जा रही है. अमेरिकी राष्ट्रपति चुनावों पर फर्जी खबरों का गहरा असर दिखा. ऐसी ही एक फर्जी खबर पढ़कर एक व्यक्ति ने वॉशिंगटन के एक रेस्तरां में गोलियां चला दी थीं. फेसबुक और ट्विटर जैसी सोशल मीडिया वेबसाइट फर्जी खबरों से लड़ने के लिए कई कदम उठा रही हैं.

DW.COM

संबंधित सामग्री