1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बर्लिन 'हमलावर' की तलाश में छापे, मॉल पर हमले की साजिश विफल

बर्लिन ट्रक हमले के संदिग्ध अनीस आमरी को पुलिस अब भी तलाश रही है, जबकि पश्चिमी जर्मनी में एक मॉल पर हमले की योजना बनाने के संदेह में दो संदिग्धों को गिरफ्तार किया है.

जर्मनी के संघीय अभियोजकों का कहना है कि पुलिस दस्तों ने 24 वर्षीय आमरी की तलाश में बर्लिन और पश्चिमी राज्य नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया में कई ठिकानों पर तलाशी अभियान चलाया है. बर्लिन के क्रिसमस बाजार में सोमवार को लोगों पर ट्रक चढ़ा दिया गया, जिसमें 12 लोग मारे गए. पुलिस को इसी हमले के सिलसिले में आमरी की तलाश है. अभियोजकों का कहना है कि बाडेन वुर्टेमबर्ग राज्य के हाइलब्रोन में एक पर्यटक बस की तलाशी भी ली गई.

शुक्रवार को जर्मन अखबार "बिल्ड" ने खबर दी कि सोमवार के हमले में मारे गए 12 लोगों में से तीन की पहचान अभी नहीं हुई है. जिन लोगों की पहुचान अब तक हुई है उनमें छह जर्मन, एक इस्राएली, एक इतालवी और एक पोलिश ड्राइवर है.

देखिए जर्मनी पर आतंक के साए

जर्मन चांसलर अंगेला मैर्केल ने कहा है कि उन्हें जल्द ही संदिग्ध की गिरफ्तारी होने की उम्मीद है. उन्होंने कहा कि जिस तरह की प्रतिक्रिया जर्मनी के लोगों ने इस हमले पर दी है, उन्हें उस पर गर्व है. हमले में निशाना बना ब्राइटशाइडप्लात्स का क्रिसमस बाजार गुरुवार को फिर से खुल गया. हालांकि सुरक्षा के लिए वहां कंक्रीट के ब्लॉक लगा दिए गए हैं ताकि अंदर कोई वाहन न जा सके.

इस बीच, कुछ जर्मन मीडिया संस्थानों ने एक वीडियो पोस्ट किया है जिससे पता चलता है कि आमरी बर्लिन के क्रिसमस बाजार में लोगों पर ट्रक चढ़ाने के बाद वहां से गायब हो गया था. बर्लिन के एक सरकारी टीवी चैनल आरबीबी का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज पता चलता है कि हमले के कुछ घंटों बाद आमरी जर्मन राजधानी के मोआबिट इलाके की एक मस्जिद के सामने था. वहीं से ट्रक को अगवा किया गया था और उसके अंदर मौजूद पोलिश ड्राइवर को मार दिया गया था.

करिए बर्लिन की दीवार की सैर

उधर, नॉर्थ राइन वेस्टफेलिया में पुलिस ने डुइसबुर्ग के पास से दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के अनुसार कोसोवो में जन्मे 28 साल और 31 साल के इन दोनों भाइयों पर एक मॉल पर हमले की योजना बनाने का संदेह है. ये नॉर्थ राइन वेस्टाफेलिया प्रांत का वह इलाका है जहां आमरी का शरण का आवेदन खारिज हुआ था. हालांकि पुलिस का कहना है कि उन्हें क्रिसमस बाजार में हुए हमले और सेंट्रो मॉल पर हमले की योजना का आपस में कोई संबंध नहीं दिखाई पड़ता. पुलिस ने शुक्रवार को जारी बयान में कहा, "हम जांच कर रहे हैं कि हमले की तैयारी कहां तक पहुंच चुकी थी और क्या इसमें कुछ और भी लोग शामिल थे."

एके/एमजे (डीपीए, रॉयटर्स)

DW.COM

संबंधित सामग्री