1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

तानोन के समुद्री जीवन पर तनी है तलवार

फिलीपींस के एक संरक्षित समुद्री क्षेत्र में भी जीवों पर खतरा मंडरा रहा है. पैसे की कमी के चलते सुरक्षा उपाय अपनाए नहीं जा रहे हैं और नतीजा है विनाश.

फिलीपींस के नेग्रोस और केबू द्वीपों के बीच तानोन जलडमरूमध्य है. यह करीब 20 साल से संरक्षित समुद्री क्षेत्र है. मछुआरा अंसिल सिल्वा घोंघे की खेती कर चार लोगों के परिवार का पालन पोषण करता है. उन्हें खुशी है कि पानी साफ है. वह कहते हैं, “मेरे लिए इसका संरक्षण बहुत ही जरूरी है क्योंकि इसी से हमारी रोजीरोटी चलती है. इसलिए इसकी गारंटी करना जरूरी है कि हमारे कोरल नष्ट न हों.”

तानोन में समुद्र का तल अपने जीव जंतुओं को प्रचुर आहार देता है. घोंघों को भी. 160 किलोमीटर के समुद्री रास्ते से होकर व्हेल और डॉल्फीन मछलियां भी गुजरती हैं. खासकर गर्मियों की शुरुआत में. इस बार तो 14 प्रजातियों को देखा गया. उन्हें बचाने के लिए धन चाहिए. बहुत सारा. उसे इकट्टा करना अनाबेल प्लानटिला का काम है. वह बायोफिन संगठन के लिए काम करती है जो सरकारों की पर्यावरण सुरक्षा के लिए धन जुगाड़ करने में मदद करती है. अनाबेल प्लानटिला बताती हैं, “हर किसी को जैव विविधता के संरक्षण में शामिल होना चाहिए. हमने सरकारी बजट को देखा तो पाया कि उसमें पर्यावरण संरक्षण की बहुत सारी संभावनाएं हैं. सरकारी एजेंसियां आपस में और ज्यादा सहयोग कर पाएंगी.”

खोत द्वीप की खूबसूरती

मसलन अधिक रेंजरों की भर्ती के लिए धन चाहिए. इस समय इस समुद्र की निगरानी के लिए सिर्फ 3 नावें हैं. इस इलाके में अवैध रूप से डायनामाइट की मदद से शिकार किया जाता है. समुद्र तल में कोई जीव बाकी नहीं बचता. रेंजर जितना हो सके नुकसान की भरपाई करने की कोशिश करते हैं. वे कोरल ब्रीड करते हैं और उसे नष्ट हुई जगह में लगाते हैं. अच्छा तो यह होता कि डायनामाइट से मछली मारने पर ही रोक लगाई जा सकती. लेकिन उसके लिए और रेंजरों की जरूरत होगी. जो हैं उनके पास पर्याप्त साज सामान भी नहीं है. रेंजर लियोनिटो टोरेस बताते हैं, “हमें तो धमकियां मिलने लगती हैं जह बम अवैध मछुआरों की रिपोर्ट करते हैं. वे हमें जान से मारने की धमकी देते हैं. ऐसा नियमित तौर पर होता है.”

लेकिन सवाल यह भी है कि मछुआरों की जिंदगी का क्या होगा. कुछ विकल्प तैयार किए जा रहे हैं जैसे कि तानोन से कुछ किलोमीटर दूर समुद्रतट के दूसरे हिस्से में समुद्री घास उगाई जाती है. इसे सुखाकर बेचा जाता है. इसका प्रेजर्वेटिव के रूप में इस्तेमाल होता है. ओकियोट गांव के निवासियों ने घास उपजाने के लिए एक सहकारी संस्था बना ली है. लेकिन इस बार फसल अच्छी नहीं हुई. किसानों का कहना है कि बहुत गर्मी थी. ओकियोट सहकारिता की गेमा लीगो बताती हैं, “पहले हम 1000 क्यारियां समुद्री घास काटते थे. अगर हर क्यारी से एक किलो मिले तो 1000 किलो समुद्री घास. किलो के 75 सेंट के हिसाब से इससे 750 यूरो की आमदनी हुई. अब सिर्फ आधी कमाई हुई जो काफी नहीं है.”

कैसे हो सागर की सफाई

किसान अब घास उपजाने की दूसरी विधियां तलाश रहे हैं. लेकिन फिर भी उन्हें आमदनी के लिए मछली भी पकड़नी होगी. लेकिन बिना डायनामाइट के.

पर्यटन से कमाई हो सकती है. डॉल्फिन कमाई का आकर्षक जरिया हो सकती हैं. लेकिन टूर ऑपरेटर्स को मछलियों से दूरी बनाकर रखनी होगी. यह अपने आप में एक बड़ी जिम्मेदारी है. और जब तक यह नहीं हो जाता, तानोन में विनाश जारी रहेगा.

मारियोन ह्यूटर

DW.COM