1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

नवाज शरीफ की कुर्सी बची, पर होगी और जांच

पाकिस्तानी सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को राहत देते हुए कहा कि उन्हें पद से हटाने के लिए पर्याप्त सबूत नहीं हैं. अदालत ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के मामले में अभी और जांच करने के लिए संयुक्त जांच टीम बनाई है.

पनामा लीक्स मामले में सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को अहम फैसला सुनाया. पिछले साल पनामा की एक कंपनी ने ऐसे लोगों से जुड़े लाखों दस्तावेज जारी किये जिन्होंने टैक्स बचाने के लिए विदेशों में फर्जी कंपनियां खोली थीं. इनमें नवाज शरीफ की बेटी और संभावित राजनीतिक उत्तराधिकारी मरियम नवाज और बेटे हसन और हुसैन के नाम भी शामिल थे.

पाकिस्तान में इस मामले पर अदालत के फैसले पर सबकी नजरें टिकी थीं. अगर फैसला नवाज शरीफ के खिलाफ जाता तो उन्हें इस्तीफा भी देना पड़ सकता था. निर्धारित समय के अनुसार पाकिस्तान में अगले साल आम चुनाव होने हैं.

विपक्षी नेता और पूर्व क्रिकेटर इमरान खान नवाज शरीफ पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाते हैं और लंबे समय से वह उनके खिलाफ मुहिम चला रहे हैं. वहीं शरीफ परिवार का कहना है कि उसने कुछ गलत नहीं किया है और उनके पास जो भी संपत्ति है वह पाकिस्तान और खाड़ी देशों में कारोबार के जरिये हासिल की गई है.

एके/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री