1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

फोटो सर्च करने के लिए अब फोटो की जरूरत नहीं

अब आप हाथ से कागज पर स्केच बनाकर भी फोटो या वीडियो सर्च कर सकते हैं. वैज्ञानिकों ने इसके लिए सिस्टम बना दिया है जिसे विट्रिवर नाम दिया गया है.

आप किसी फोटो के बारे में खोजना चाहते हैं तो गूगल पर इमेज सर्च कर सकते हैं. लेकिन आपको ऐसी कोई फोटो खोजनी हो जो आपके पास है ही नहीं, पर आप जानते हैं कि कैसी दिखती है, तो? हो जाएगा. अब ऐसा भी हो जाएगा. बस कागज पर हाथ से स्केच बना दीजिए और इंटरनेट उसे भी तलाश लाएगा.

वैज्ञानिकों ने ऐसा सिस्टम तैयार कर लिया है जिसमें कागज पर स्केच बनाकर भी किसी तस्वीर को खोजा जा सकता है. इंटरनेट पर तस्वीरों और विडियो का जखीरा जिस तरह बढ़ रहा है, उस हिसाब से तो यह बहुत काम की चीज हो सकती है.

गूगल या बिंग जैसे सर्च इंजन पर आप किसी चीज की तस्वीर खोज सकते हैं. इसके लिए आपको उसके बारे में कोई भी बात पता हो तो बस सर्च इंजन में डाल दीजिए. लेकिन कोई खास फोटो या विडियो खोजना हो तो गूगल भी उतना कामयाब नहीं हो पाता.

स्विट्जरलैंड की बाजल यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने विट्रिवर नाम का सिस्टम तैयार किया है. विट्रिवर सिर्फ एक स्केच के आधार पर फोटो या विडियो तलाश सकता है. इसके लिए आपको कागज पर एक स्केच बनाना होगा जैसे कि मेज का स्केच बनाइए या फिर जिस भी चीज की तस्वीर आपको खोजनी है. फिर उसे प्रोग्राम पर अपलोड कर दीजिए. यह आपके लिए उस स्केच जैसी तस्वीरें और विडियो खोज लाएगा. वीडियो के लिए तो आप यह भी बता सकते हैं कि कोई चीज किस दिशा में चल रही है. मतलब आपको किसी ऐसी बस का वीडियो चाहिए जो उलटी दिशा में चल रही हो, तो विट्रिवर ऐसा कर सकता है.

विट्रिवर को डेवेलप करते हुए बहुत सारे पैमाने सर्च के लिए रखे गए हैं मसलन रंग, आकार, दिशा, गति वगैरह हर तरह के पैमाने पर आप इमेज या वीडियो सर्च कर सकते हैं. आप जो स्केच सर्च के लिए डालेंगे विट्रिवर उसे इन सब पैमानों पर परखेगा और वैसी ही तस्वीरें और वीडियो खोज लाएगा.

विट्रिवर को ओपन सोर्स कर दिया गया है यानी कोई भी इसे इस्तेमाल कर सकता है. यह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हर किसी के लिए उपलब्ध है. लोगों ने इसे इस्तेमाल करना भी शुरू कर दिया है. डिजिटल वॉटरमार्क्स से लेकर किसी खास पैटर्न वाले वीडियो तक काफी कुछ सर्च किया जा रहा है.

वीके/आईबी (पीटीआई)

DW.COM