1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

हर साल छह परमाणु बम बना सकता है उत्तर कोरिया

अंतरराष्ट्रीय दबाव और प्रतिबंधों के बावजूद उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम आगे बढ़ रहा है. हथियार विशेषज्ञों का आकलन है कि इस साल के आखिर तक उत्तर कोरिया के पास इतनी सामग्री होगी कि वो 20 परमाणु बम बना सके.

विशेषज्ञों का कहना है कि उत्तर कोरिया के पास यूरेनियम की भरपूर मात्रा है और वह लगभग एक दशक से उसे गुपचुप तरीके से उसके संवर्धन पर काम कर रहा है. पिछले दिनों ही उत्तर कोरिया ने अपना पांचवां और सबसे शक्तिशाली परमाणु परीक्षण किया. दक्षिण कोरिया का यहां तक कहना है कि जल्द ही उत्तर कोरिया एक और परमाणु परीक्षण की तैयार कर रहा है.

उत्तर कोरिया के परमाणु कार्यक्रम पर अग्रणी विशेषज्ञ जिगफ्राइड हेकर कहते हैं कि उत्तर कोरिया हर साल 150 किलो यूरेनियम संवर्धन करने में सक्षम हो सकता है. हेकर के मुताबिक इतने यूरेनियम से हर साल छह परमाणु बम तैयार किए जा सकते हैं.

किसके पास कितने ऐटम बम, देखें

हेकर ने 2010 में उत्तर कोरिया के योंगब्योन परमाणु केंद्र का दौरा किया था. उनका आकलन है कि उत्तर कोरिया के पास 32 से 54 किलो प्लूटोनियम का भंडार हो सकता है और उसके पास साल के आखिर तक इतनी सामग्री होगी कि 20 परमाणु बम तैयार किए जा सकें.

उत्तर कोरिया का कहना है कि हालिया परमाणु परीक्षण के बाद वो मध्य दूरी की बैलेस्टिक मिसाइल को परमाणु हथियार से लैस करने में सक्षम हो गया है. लेकिन उसके इन दावों की कभी स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं हो सकी है.

दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्री हान मिन-कू ने इस साल अनुमान जताया कि उत्तर कोरिया के पास 40 किलो प्लूटोनियम हो सकता है. लेकिन परमाणु हथियारों का डिजाइन तैयार करने वाली अमेरिका की लॉस अलामोस नेशनल लेबोरेट्री के डायरेक्टर रहे हेकर कहते हैं कि पश्चिमी जगत को पता ही नहीं है कि उत्तर कोरिया ने यूरेनियम संवर्धन के अपने कार्यक्रम को कितना उन्नत बना लिया है.

देखिए, पहला परमाणु बम

उत्तर कोरिया ने कभी नहीं माना कि वो परमाणु हथियार तैयार करने के लिए सेंट्रीफ्यूज पर काम कर रहा है. बल्कि उसका कहना है कि इनका इस्तेमाल हल्के पानी के बिजली बनाने वाले रिएक्टर के लिए ईंधन तैयार में होगा. अमेरिकी पत्रिका नॉनप्रोलिफरेशन रिव्यू के संपादक जोशुआ पॉलक कहते हैं कि 2009 में उत्तर कोरिया ने इतनी तकनीक हासिल कर ली थी कि वो घरेलू स्तर पर अपनी यूरेनियम परियोजना का विस्तार कर सके.

कैलिफोर्निया स्थित मिडलबरी इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के जेफरी लुई की राय है कि उत्तर कोरिया बिना किसी खास मदद के अब परमाणु कार्यक्रम चलाने में सक्षम है, हालांकि कुछ सामग्री और चीजें तैयार करने में उसे अब भी मुश्किलें आ रही हैं. वह कहते हैं, “जैसा कि हमने ईरान में देखा है, कुछ समय के बाद देश अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंधों से तालमेल बिठा लेते हैं.”

कैसे बनाएं परमाणु बम

DW.COM

संबंधित सामग्री