1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

'एमएनएस धमकाए नहीं, बॉर्डर पर लड़ने अपने लोग भेजे'

पाकिस्तानी कलाकारों को भारत छोड़ने का एमएनएस का अल्टीमेटम. सोशल मीडिया पर लोगों ने क्या कहा, पढ़िए.

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना की तरफ से बॉलीवुड में काम कर रहे पाकिस्तानी कलाकारों को देश छोड़ने का 48 घंटे का अल्टीमेटम सोशल मीडिया पर चर्चा का विषय बना हुआ है.

उड़ी हमले में 18 भारतीय सैनिकों की मौत के बाद जारी तनाव के बीच जहां बहुत से लोग सोशल मीडिया पर एमएनएस का समर्थन कर रहे हैं, वहीं इसका विरोध करने वाले भी कम नहीं हैं.

स्वाति चतुर्वेदी ने ट्वीट किया, “पाकिस्तानी कलाकारों को निशाना बनाना आसान है, पाकिस्तानी सुरक्षा प्रतिष्ठान को निशाना बनाना मुश्किल है! ये बकवास बंद होनी चाहिए.”

वहीं पाकिस्तानी कलाकारों का अकसर विरोध करने वाले गायक अभिजीत कहते हैं कि एमएनएस को उन लोगों से निपटना चाहिए जो पाकिस्तानी कलाकारों को भारतीय फिल्मों में ले रहे हैं.

शाई बाबा ने लिखा है, “जो पाकिस्तानी कलाकार बातचीत और सौहार्द्र की बात कर रहे हैं उन्हें पाकिस्तान जाकर वहां ये उपदेश देना चाहिए.”

अशोक पंडित ने लिखा है कि अफसोस है कि बॉलीवुड में करोड़ों बना रहे फवाद खान समेत पाकिस्तान का कोई भी कलाकार हमारी पीड़ा को नहीं समझ रहा है. इसलिए उन्हें वापस भेज देना चाहिए.

वहीं शहजाद पूनावाला ने लिखा, “एमएनएस और राज ठाकरे अपने गुंडे एलओसी/बॉर्डर पर भेजें. पाकिस्तानी कलाकारों को धमकाने की बजाय वो वहां जाकर आंतकवादियों से लड़ें.”

पियूष ने ट्वीट किया, “मुझे खुशी होगी अगर शिवेसना और एमएनएस जैसी पार्टियां मराठा युवाओं को गुंडे बनाने की बजाय सेना में जाने के लिए प्रेरित करें.”

उधर पाकिस्तान में भी इस खबर की चर्चा हो रही है. पाकिस्तान के नामी पत्रकार हामिद मीर ने ट्वीट किया कि भारत में पाकिस्तान के कलाकारों को देश छोड़ने के लिए 48 घंटे का समय दिया है.

वहीं कई बलोच यूजर एमएनएस का समर्थन कर रहे हैं. फातिमा बलोच ने लिखा, “बॉलीवुड पाकिस्तान कलाकारों को लेना बंद करे क्योंकि भारत में बहुत प्रतिभाएं हैं. क्यों ना पाकिस्तानी कलाकारों की जगह उन्हें लिया जाए.”

तस्वीरों में: कैसे विरोध करती है शिवसेना

DW.COM

संबंधित सामग्री