1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ब्रिटेन के मैनचेस्टर में धमाका, 22 की मौत

ब्रिटेन के मैनचेस्टर शहर में एक कंसर्ट के दौरान हुए धमाके में 22 लोग मारे गए हैं जबकि दर्जनों घायल हुए हैं. प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने इस घटना को "भयानक आतंकवादी हमला" बताते हुए इसकी निंदा की है.

पुलिस के मुताबिक वह इस धमाके को आतंकवादी हमला मान कर चल रही है. यह धमाका सोमवार की शाम मैनचेस्टर में उस वक्त हुआ जब अमेरिकी पॉप स्टार एरियाना ग्रैंडे का कंसर्ट खत्म होने के बाद लोग वहां से निकल रहे थे.

सोशल मीडिया पर पोस्ट किये गये वीडियोज में देखा जा सकता है कि धमाके के बाद सैकड़ों लोग घटनास्थल से भागने की कोशिश कर रहे हैं. हर तरफ चीख पुकार का आलम था. इस कंसर्ट में मौजूद 22 साल के मजीद खान ने गार्डियन अखबार को बताया कि जब लोग 18 हजार लोगों की क्षमता वाले हॉल से निकल रहे थे, तभी एक जोरदार धमाका हुआ, जिससे अफरा-तफरी मच लगी. एक अन्य चश्मदीदी ससीना अख्तर ने मैनचेस्टर इवनिंग न्यूज को बताया, "हमने खून से लथपथ कई लड़कियों को देखा. हर कोई चिल्ला रहा था और लोग दौड़ रहे थे. वहां बहुत सारा धुआं था."

ब्रिटेन की स्वास्थ्य सेवा एनएचएस का कहना है कि 59 लोगों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. ब्रिटेन में 8 जून को होने वाले आम चुनाव से ठीक पहले ये धमाका हुआ है. इस घटना के बाद सभी राजनीतिक पार्टियों ने फिलहाल अपने चुनावी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं.

प्रधानमंत्री टेरीजा मे ने इस घटना को आतंकवादी हमला बताया है. एक बयान में उन्होंने कहा, "हम इस घटना का पूरा ब्यौरा हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं जिसे पुलिस एक भयानक आतंकवादी हमला मान चल रही है. हमारी संवेदना पीड़ितों और प्रभावित परिवारों के साथ हैं."

इससे पहले, विपक्षी लेबर पार्टी के नेता जेरमी कोर्बिन ने ट्वीट कर प्रभावित लोगों के साथ एकजुटता जताई है.

वहीं एरियाना ग्रैंडे के प्रवक्ता का कहना है कि अमेरिकी गायिका "ठीक ठाक" है और वे इस बात का पता लगा रहे हैं कि आखिर हुआ क्या था. ग्रैंडे युवा लोगों में बेहद लोकप्रिय हैं. इसलिए उनके इस कंसर्ट को देखने के लिए बड़ी संख्या में किशोर और युवा पहुंचे थे. ग्रैंडे ने एक ट्वीट कर इस घटना पर गहरा दुख जताया है.

उधर स्थानीय लोगों ने #RoomForManchester के साथ धमाके के पीड़ितों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया. कई लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा कि अगर कोई भी उनके घर आना चाहे तो आ सकता है. इस बीच, मैनचेस्टर पुलिस ने पीड़ितों की मदद के लिए एक इमरजेंसी हेल्पलाइन शुरू की है.

एके/ओएसजे (डीपीए, एएफपी, एपी)

संबंधित सामग्री