1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

पवित्र बनाने के लिए बच्चियों से सेक्स करने वाला गिरफ्तार

मलावी में परंपरा के नाम पर 100 से ज्यादा महिलाओं से सेक्स करने वाला एचआईवी पॉजिटिव गिरफ्तार. टीवी प्रोग्राम में उसने दावा किया था कि उसने 12 साल की बच्चियों से भी सेक्स किया.

अफ्रीकी देश मलावी में एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है जो एचआईवी पॉजिटिव है और उसने कम से कम 100 कम उम्र लड़कियों और महिलाओं के साथ सेक्स किया. पुलिस के मुताबिक इस व्यक्ति ने कबूल किया है कि उसे ऐसा करने के लिए पैसे दिए गए थे, लेकिन उसने किसी को नहीं बताया कि वहह पॉजिटिव है.

दक्षिणी अफ्रीका के इस देश में इस गिरफ्तारी से हलचल मच गई है. एनरिक अनिवा नाम के शख्स को राष्ट्रपति पीटर मुथारिका के आदेश पर गिरफ्तार किया गया. हाल ही में अनिवा बीबीसी के एक प्रोग्राम में आया था जहां उसने कहा था कि उसने 12 साल की बच्चियों के साथ भी सेक्स किया है. अनिवा ने टीवी प्रोग्राम में कहा, “जिनके साथ मैंने संबंध बनाए हैं उनमें से ज्यादातर छोटी लड़किया हैं, स्कूल जाने वाली लड़कियां.”

देखिए, हर धर्म में हैं क्रूर परंपराएं

लेकिन ऐसा अनिवा ने एक परंपरा के तहत किया है. कथित यौन पवित्रता की यह परंपरा मलावी के ग्रामीण इलाकों में प्रचलित है. इस परंपरा के तहत किसी भी बच्ची को पहली बार मासिक धर्म होने के बाद किसी पुरुष के साथ संबंध बनाने होते हैं. इसके लिए इस तरह का काम करने वाले पुरुष को पैसे देकर बुलाया जाता है. माना जाता है कि इससे लड़की पवित्र हो गई. ऐसा तब भी होता है जब कोई महिला विधवा हो जाती है. तब भी उसे ऐसे ही किसी पुरुष के साथ संबंध बनाने पड़ते हैं.

यौन पवित्रता की यह प्रथा मलावी के अलावा केन्या, जाम्बिया, यूगांडा, तंजानिया, दक्षिण अफ्रीका, मोजांबिक, सेनेगल और अंगोला के कुछ इलाकों में भी प्रचलित है. यौन शुद्धता की प्रक्रिया बच्चियों के मामले में कहीं भावी पतियों द्वारा पूरी की जाती है तो विधवाओं के मामले में मृत पति के भाई या किसी और रिश्तेदार के द्वारा या किराये पर बुलाए गए सेक्स वर्कर द्वारा. मलावी के कुछ हिस्सों में इस काम को करने वाले लोगों को परंपरागत रूप से हायना कहा जाता है. यौन शुद्धता की यह प्रक्रिया तीन दिनों तक चलती है.

राष्ट्रपति मुथारिका ने एक बयान जारी कर कहा है कि अनिवा के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी. उन्होंने कहा, “अनिवा के दुष्कर्मों के लिए उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जरूरत है.” अनिवा एचआईवी पॉजिटिव है जिस कारण उसके साथ संबंध बनाने वाली सभी महिलाएं अब एड्स के खतरे की जद में हैं.

तस्वीरों मेंः बिना खतने के औरत कहलाने का हक

अनिवा का कहना था कि उसने 100 से ज्यादा महिलाओं और लड़कियों के साथ शारीरिक संबंध बनाए. उसका दावा है कि ऐसा करने के लिए उसे परिवारों ने काम पर रखा था और पैसे दिए थे. ऐसा उसने एक परंपरा के तहत किया जिसमें लड़कियों की तथाकथित पवित्रता कायम रखने के लिए उनके साथ सेक्स किया गया. कई इंटरव्यू में अनिवा ने दावा किया कि वह एक हाइना है और उसे गांव के बुजुर्ग या फिर परिवारवाले पैसे देते हैं.

अनिवा पर अलग-अलग मामले दर्ज किए गए हैं. मलावी पुलिस प्रमुख लेक्सटन काचामा ने बताया, “जिन महिलाओं के साथ वह सोया है उनमें से ज्यादातर नाबालिग बच्चियां हैं.” पुलिस ने कहा कि संस्कृति के नाम पर इस तरह के काम को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता. राष्ट्रपति मुथारिका ने आदेश दिया है कि अनिवा के दावों की सच्चाई का पता लगाया जाए और अगर परंपरा के नाम पर ऐसा कुछ हुआ है तो इसमें शामिल सभी परिजनों या गांव के बुजुर्गों की जांच की जाए.

उफ्फ! जननांगों की विकृति की परंपरा

अनिवा पहले भी चर्चा में रहा है. 2012 में भी उसने दावा किया था कि वह 100 से ज्यादा महिलाओं के साथ संबंध बना चुका है. मलावी की मानवाधिकार कार्यकर्ता और वकील क्रिस्पीन सिबांडे ने इस मामले में राष्ट्रपति द्वारा की गई कार्रवाई की तारीफ तो की लेकिन साथ इसे नाकाफी भी बताया. उन्होंने कहा, “परंपरा के नाम पर यह सब बहुतायत में हो रहा है. देश के कुछ हिस्सों में तो यह काफी प्रचलित है और इसे खत्म करने के लिए बड़े कदम उठाए जाने की जरूरत है.”

DW.COM