1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

वह बिना मदद मरता रहा, लोग फोटो लेते रहे

कर्नाटक के कोप्पल में 18 साल का अनवर अली सड़क पर घायल अवस्था में करीब 25 मिनट तक पड़ा रहा लेकिन उसकी मदद करने की बजाय लोग उसकी तस्वीरें लेते रहे और उसकी मौत हो गई.

मोबाइल फोनों के बढ़ते खुमार का ही नतीजा है कि आम लोगों को सड़क पर पड़े एक घायल युवक की तस्वीरें लेने का तो ध्यान रहता है लेकिन मदद करना सब भूल जाते हैं.

कर्नाटक के कोप्पल में 18 साल का अनवर अली सड़क पर घायल अवस्था में करीब 25 मिनट तक पड़ा रहा लेकिन उसकी मदद करने की बजाय लोग उसकी तस्वीरें लेते रहे. घटना के एक वीडियो में साफ नजर आ रहा है कि वह आम लोगों से मदद की गुहार लगाता रहा लेकिन कोई हाथ उसकी मदद के लिए नहीं उठा.

वीडियो में एक व्यक्ति अनवर को पानी देता हुआ भी नजर आता है लेकिन अस्पताल में अनवर की मौत हो जाती है.

एनडीटीवी की खबर के मुताबिक बेंगलूरु से 380 किलोमीटर दूर कोप्पल में साइकिल से जा रहे अनवर को एक बस ने टक्कर मार दी थी जिसके बाद वह घायल हो गए थे. अली के भाई रियाज ने बताया, "अगर रास्ते से गुजरने वाले लोग उसका वीडियो बनाने और तस्वीरें लेने के बजाय मेरे भाई की मदद के लिए आगे आते तो शायद वह बच जाता."

एक प्रयत्क्षदर्शी के मुताबिक मौके पर मौजूद लोग इस पूरे वाकये से हैरान थे और एक पल तो किसी को समझ ही नहीं आया कि खून से लथपथ इस घायल व्यक्ति की मदद कैसे करें.

तीन दिन पहले मैसूर में भी एक 38 साल के पुलिस अधिकारी की जीप और बस की टक्कर हो गई थी, उस घटना में भी घायल अधिकारी की मदद के लिए कोई आगे नहीं आया और जो लोग भी घटनास्थल पर ठहरे वह भी मदद करने की बजाय बस तस्वीरें लेकर वहां से चलते बने.

बेंगलूरु के लिए इस तरह की घटनाएं कोई नई नहीं है. पिछले साल भी एक एक बाइक सवार और ट्रक की टक्कर का ऐसा ही वीडियो सामने आया था जिसमें बाइक सवार भी मदद मांगते नजर आ रहा था लेकिन मदद के लिए कोई नहीं था.

यह भी देखें: चीन में सेवा कर रहा है जर्मनी का डॉक्टर

 

DW.COM

संबंधित सामग्री