1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत में हमले के लिए कनाडा में ट्रेनिंगः रिपोर्ट

एक रिपोर्ट के मुताबिक कनाडा के सिख नागरिक हरदीप निज्जर ने खालिस्तान टेरर फोर्स की कमान अपने हाथ में ले ली है और हमलों के लिए सिख युवकों का दल तैयार किया है.

default

भारतीयों के बीच लोकप्रिय कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो

भारत की जासूसी एजेंसियों ने कनाडा सरकार को सूचित किया है कि उनके देश में खालिस्तानी आतंकवादियों के लिए ट्रेनिंग कैंप चलाया जा रहा है. भारतीय अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर है कि जासूसी एजेंसियों ने कनाडा को बताया है कि खालिस्तानी आतंकवादी ब्रिटिश कोलंबिया के शहर मिशन के नजदीक एक ट्रेनिंग कैंप चला रहे हैं जहां आतंकियों को पंजाब पर हमले के लिए ट्रेनिंग दी जा रही है.

टाइम्स ऑफ इंडिया ने यह खबर पंजाब की खुफिया एजेंसी के अफसरों की एक रिपोर्ट के आधार पर छापी है. इस खबर में कहा गया है कि कनाडा के सिख नागरिक हरदीप निज्जर ने खालिस्तान टेरर फोर्स की कमान अपने हाथ में ले ली है और हमलों के लिए सिख युवकों का दल तैयार किया है. पंजाब सरकार यह रिपोर्ट केंद्रीय गृह और विदेश मंत्रालय को भेज चुकी है. निज्जर के प्रत्यर्पण की मांग भी इस रिपोर्ट का हिस्सा है.

पाकिस्तान से जुटाने थे हथियार

रिपोर्ट में पठानकोट में 2 जनवरी को हुए आतंकवादी हमले का जिक्र भी किया गया है. अखबार ने रिपोर्ट के हवाले से लिखा है, "निज्जर को पाकिस्तान से हथियार जुटाने थे लेकिन पठानकोट हमले के बाद सीमा पर चौकसी बढ़ गई इसलिए उसकी मंशा पूरी नहीं हो सकी."

निज्जर 195 से सरे में रह रहे हैं. उनके पास कनाडा का पासपोर्ट भी है जिसका नंबर भी टाइम्स ऑफ इंडिया ने छापा है. अखबार कहता है कि निज्जर एक स्वयंभू आतंकवादी है और लुधियाना के शिंगार सिनेमा में 2007 में हुए बम धमाके का आरोपी है. इस धमाके में छह लोगों की जान गई थी.

केटीएफ के बारे में ये सूचनाएं मनदीप सिंह नाम के युवक की गिरफ्तारी से मिली हैं. केटीएफ का संदिग्ध सदस्य मनदीप लुधियाना के गांव चाक कलां से दो हफ्ते पहले गिरफ्तार किया गया. पुलिस ने उसके फोन को ट्रेस किया था. मनदीप ने पाकिस्तान आधारित दल खालसा इंटरनैशनल के मुखिया गजिंदर सिंह और निज्जर दोनों से बात की थी. रिपोर्ट में कहा गया है, "केटीएफ के पूर्व प्रमुख जगतार तारा की गिरफ्तारी के बाद से ही निज्जर अपने ग्रुप को कनाडा में हथियारों की ट्रेनिंग दे रहा है. हाल ही में वह मनदीप और तीन अन्य सिख युवकों को मिशन के पास एक रेंज पर ले गया जहां उन्हें एके 47 की ट्रेनिंग दी गई. उन्हें रोजाना 4-4 घंटे की फायरिंग प्रैक्टिस कराई गई."

शिव सेना पर हमला

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक निज्जर और मनदीप हथियारों की ट्रेनिंग के लिए कई बार पाकिस्तान जा चुके हैं. जासूसी एजेंसियों ने अपनी रिपोर्ट में दोनों की कुछ तस्वीरें भी लगाई हैं. इन तस्वीरों में ये दोनों पाकिस्तान के ननकाना साहिब में गुरुद्वारे के सामने एके 47 राइफलों के साथ नजर आ रहे हैं.

रिपोर्ट का दावा है कि मनदीप इसी साल जनवरी में भारत आया और उसका मकसद शिव सेना के नेताओं और डेरा प्रमुखों पर हमला करना था. रिपोर्ट के मुताबिक, "भारत में रहते हुए वह लगातार निज्जर और गजिंदर सिंह के संपर्क में बना रहा. वह पटियाला और लुधियाना में जगहों की छानबीन कर रहा था. इस बीच निज्जर को पाकिस्तान से हथियारों का इंतजाम करना था."

कनाडा में बड़ी तादाद में भारतीय सिख समुदाय रहता है. वहां से पहले भी खालिस्तान समर्थक आंदोलन के लिए पैसा और नैतिक समर्थन की खबरें आती रही हैं.

विवेक कुमार

DW.COM

संबंधित सामग्री