1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

कश्मीर में हिमस्खलन से 15 सैनिकों समेत 20 मरे

कश्मीर घाटी में भारी हिमपात ने हिमस्खलन के खतरे को और बढ़ा दिया है. प्रशासन ने कई इलाकों में लोगों से सतर्क रहने को कहा है.

भारत प्रशासित कश्मीर में सीमा से सटे इलाके में हिमस्खलन में मरने वालों की संख्या 20 तक पहुंच गई है. इनमें से 15 सेना के जवान हैं. एक अधिकारी के मुताबिक बुधवार को हिमस्खलन की चपेट में सेना का गुरेज कैंप भी आ गया था, जिसमें तकरीबन 10 सैनिकों की मौत हो गई.

सेना के प्रवक्ता राजेश कालिया ने बताया कि शुक्रवार तक चार जवानों के शव और बरामद किए गए हैं जिसके बाद मरने वाले सैनिकों की संख्या 15 तक पहुंच गई है. हिमस्खलन के बाद से कई सैनिक अब भी लापता हैं.

बर्फबारी से जूझती जिंदगी

वहीं बांदीपोर जिले में हिमस्खलन की घटना में चार आम लोगों की मौत हो गई हैं. स्थानीय अधिकारियों के मुताबिक इस पूरे क्षेत्र में हिमस्खलन हो रहा है और सीमा से सटे उड़ी में भी एक आदमी के मरने की खबर है.

मीडिया रिपोर्ट में आपदा प्रबंधन विभाग के हवाले से कहा गया है कि पहले यह पता करना होगा कि हिमस्खलन और बर्फबारी का खतरा अधिक कहां है, इसके बाद बचाव कार्य में तेजी आ सकेगी. प्रशासन ने कश्मीर के कई इलाकों के लिए हिमस्खलन की चेतावनी जारी की है और लोगों से सतर्क रहने की गुजारिश की है.

कश्मीर में कई हिस्सों में भारी बर्फबारी हो रही है और मौसम बेहद खराब है. स्थानीय लोगों के घर भी इसकी चपेट में आ गए हैं. सेना को बचाव कार्य में लगाया गया है. साल 2012 में हिमस्खलन ने पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर को अपना निशाना बनाया था जिसमें 140 लोगों की मौत हो गई थी. मरने वालों में से 129 सेना के जवान थे.

एए/एके (एएफपी, एए)

DW.COM