1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आईएस ने जारी किया आठ हजार लोगों के कत्ल का फरमान

आतंकवादी संगठन आईएस के समर्थक हैकर्स ने एक किल लिस्ट जारी की है जिसमें आठ हजार से ज्यादा नाम हैं. इसे दुनिया की सबसे लंबी किल लिस्ट कहा जा रहा है. इसमें अमेरिका के सबसे ज्यादा नागरिक हैं.

आईएस के समर्थक हैकर्स के एक ग्रुप ने यह लिस्ट जारी की है. ब्रिटिश मीडिया ने इस बारे में खबर छापी है. इस खबर के मुताबिक आईएस समर्थक युनाइटेड साइबर खलिफत हैकर ग्रुप ने 8,318 लोगों की एक लिस्ट जारी की है. इसमें लोगों के नाम, पते और यहां तक कि ईमेल अड्रेस भी लिखे हैं. यह लिस्ट एक मेसेजिंग ऐप सर्विस पर जारी की गई है.

ब्रिटिश अखबार डेली मिरर ने लिखा है कि लिस्ट के साथ आए समर्थकों के नाम एक संदेश भी है. इस संदेश में कहा गया है कि लिस्ट में दिए गए लोगों को खोजें और कत्ल कर दें ताकि मुसलमानों का बदला लिया जा सके.

यह अब तक की शायद सबसे लंबी किल-लिस्ट है. इसमें सबसे ज्यादा 7 हजार 848 अमेरिकी हैं. इनके अलावा कनाडा के 312, ब्रिटेन के 39 और ऑस्ट्रेलिया के 69 नागरिकों के नाम हैं. साथ ही यूरोप के कुछ देशों के नागरिक भी हैं. बेल्जियम, एस्टोनिया, फ्रांस, जर्मनी, ग्रीस, आयरलैंड, इटली के लोग इस लिस्ट में हैं. साथ ही ब्राजील, चीन, ग्वाटेमाला, इंडोनेशिया, इस्राएल, जमैका, न्यूजीलैंड और त्रिनिदाद और टबैगो के लोगों के भी नाम हैं.

डेली मिरर ने लिखा है इस लिस्ट में जो नाम हैं वेलोग मुख्यतया सैन्य या सरकारी पदों पर हैं. कुछ लोग ऐसे भी हैं जो लोगों की नजरों में रहते हैं मसलन शाही परिवारों के लोग. लिस्ट अंग्रेजी और अरबी दोनों में लिखी गई है. इस लिस्ट को वोकेटिव नाम के मी़डिया संस्थान ने खोजा है. वोकेटिव इंटरनेट पर छुपी हुई चीजों की जांच-पड़ताल करता है. इस लिस्ट को मेसेजिंग सर्विस टेलिग्राम के जरिए भेजा गया. टेलिग्राम के संदेशों को हैक करना बहुत मुश्किल माना जाता है. इस हफ्ते की शुरुआत में यह लिस्ट जारी की गई है.

क्या आप जानते हैं कि IS है क्या? जानें इन तस्वीरों से

वोकेटिव ने लिस्ट में दिए गए नाम बताने से इनकर किया है.

अमेरिका की एक जासूसी कंपनी फ्लैशपॉइंट की एक रिपोर्ट है कि युनाइटेड साइबर खलिफत नाम के इस हैकिंग ग्रुप को पिछले साल अप्रैल में बनाया गया था. इस ग्रुप में कई कट्टरपंथी इस्लामिक है हैकर्स काम करते हैं.

वीके/ओएसजे (पीटीआई)

DW ऐप डाउनलोड करें और भाषा में हिंदी चुनें.

DW.COM

संबंधित सामग्री