1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

हत्या के शक में 18 शेर हिरासत में, अपराधी को होगी उम्रकैद

गुजरात में 18 शेरों को हिरासत में लिया गया है. इनमें से किसी एक ने तीन आदमियों को मारा है. जो अपराधी पाया जाएगा, उसे सख्त सजा दी जाएगी.

Bildergalerie Asiatischer Löwe

तस्वीर प्रतीकात्मक है

गुजरात में तीन की हत्या के लिए पुलिस को 18 पर संदेह है. दोषी की सजा पहले से तय है. जो भी कसूरवार होगा उसे उम्रकैद होगी. उसे जंगल से चिड़ियाघर जाना होगा. जांच जारी है.

ये 18 संदिग्ध हैं शेर, जिन पर हत्या का संदेह है. इनमें से किसी ने 3 हत्याएं की हैं. और जिसने भी ऐसा किया है, उसे बख्शा नहीं जाएगा, चिड़ियाघर भेज दिया जाएगा.

सभी संदिग्ध एशियाई शेर हैं. एशियाई शेरों की आबादी पिछले कुछ सालों में इतनी घटी है कि इस प्रजाति का अस्तित्व खतरे में है. इंसानी बस्तियां जंगलों की ओर बढ़ रही हैं. इस वजह से शेर और इंसान के बीच संघर्ष भी बढ़ रहा है. और दोनों एक-दूसरे की हत्याएं भी कर रहे हैं. हाल ही में हुई तीन हत्याएं भी इसी से जुड़ी हैं. इस बारे में अमेरिकी अखबार वॉशिंगटन पोस्ट ने रिपोर्ट छापी है.

400 एशियाई शेरों को गिर के जंगलों में छोड़ा गया है. अफ्रीका के बाद एशियाई शेरों की सबसे बड़ी आबादी यहीं पाई जाती है. वन अधिकारी कहते हैं कि गिर नेशनल पार्क में 270 शेर ही रह सकते हैं. लेकिन संख्या 400 हो जाने की वजह से अब दिक्कत यह हो रही है कि शेरों की इलाकों को लेकर आपस में भी लड़ाई हो रही है. हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात सरकार को आदेश दिया था कि कुछ शेरों को दूसरे राज्यों में भेजा जाए. लेकिन इस पर अब तक अमल नहीं हो पाया है.

जिन 18 शेरों को हिरासत में लिया गया था, उनके पंजों और मल की जांच की जाएगी. पुलिस का मानना है कि इस आधार पर अपराधी को पकड़ा जा सकता है. वन्य जीवन विशेषज्ञ रुचि दवे ने बीबीसी को बताया कि शेरों के व्यवहार का भी अध्ययन किया जा रहा है. उन्होंने कहा, “अधिकारी जानवरों के व्यवहार का अध्ययन कर रहे हैं. जो शेर आदमखोर हो जाता है, वह इंसान को देखते ही भड़क जाता है.”

देखिए, शेरों वाली बात

गुजरात के वरिष्ठ वन अधिकारी जेए खान ने वॉशिंगटन पोस्ट से कहा है कि उन्हें अंदाजा हो चुका है कि अपराधी शेर कौन है. उन्होंने कहा, “हमें लगता है कि हमने अपराधी को पहचान तो लिया है लेकिन हम 9 अन्य शेरों की जांच के नतीजों का इंतजार कर रहे हैं.” जब तय हो जाएगा कि हत्यारा शेर कौन है तो उसे चिड़ियाघर भेज दिया जाएगा. बाकी 17 शेरों को वापस जंगल में छोड़ दिया जाएगा.

विवेक कुमार

DW.COM

संबंधित सामग्री