1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

सर्जिकल हमले के बाद पाक में भारतीय फिल्में बैन

लगता है अब बॉलीवुड भी भारत और पाकिस्तान के बीच तनातनी का अखाड़ा बन गया है. पहले मनसे पाकिस्तानी कलाकारों को भारत छोड़ने की धमकी दी, तो अब पाकिस्तान में सिनेमा मालिक बॉलीवुड फिल्में दिखाना बंद कर रहे हैं.

भारतीय फिल्मों पर बैन का फैसला गुरुवार को भारत के सर्जिकल हमले के बाद किया गया है. हालांकि पाकिस्तान ने ऐसे किसी हमले से इनकार किया है. लेकिन दोनों देशों में इससे तनाव फिर चरम पर पहुंच गया है.

पाकिस्तानी अखबार ट्रिब्यून की खबर है कि पाकिस्तान में सिनेमा मालिकों ने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव कम होने तक भारतीय फिल्में न दिखाने का फैसला किया है. अखबार का कहना है कि गुरुवार को इंडियन मोशन पिक्चर प्रोड्यूसर एसोसिएशन की तरफ से भारतीय फिल्मों में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर प्रतिबंध लगाने के बाद पाकिस्तानी सिनेमा मालिकों ने ये फैसला किया है.

कराची और इस्लामाबाद में सिनेमा चलाने वाली मांडवीवाला एंटरटेनमेंट कंपनी के मालिक नदीम मांडवीवाला ने कहा, "हम रिश्ते सामान्य होने तक फिल्में नहीं दिखाएंगे. यकीन मानिए शुक्रवार से किसी सिनेमा में भारतीय फिल्म नहीं चलेगी.” वहीं पाकिस्तानी पीपल्स पार्टी के नेता और पूर्व मंत्री बाबर आवान ने ट्वीट कर कहा कि पाकिस्तान में पाकिस्तानी कलाकारों पर बैन लगा तो पाकिस्तान में भारतीय फिल्में बैन हो गईं.

ट्विटर हैंडल @syedasiimalii से लिखा गया कि कश्मीरी लोगों के समर्थन में भारतीय फिल्मों, सीरियलों और गानों का बहिष्कार होना चाहिए.

दूसरी तरफ फैसल रफी नाम के एक यूजर ने भारतीयों फिल्मों को बैन करने को मूर्खता बताया है. उन्होंने सवाल किया है कि फिर तो पाकिस्तान में ड्रोन हमले होने पर हॉलीवुड फिल्मों पर बैन लगा देना चाहिए.

फैज अम बलूच लिखते हैं, "जैसे को तैसा का खेल जारी है:  क्या पाकिस्तान भारतीय फिल्मों को बैन करना अफोर्ड कर पाएंगे?”

रजा बट लिखते हैं, "क्या हमने भारतीय फिल्में देखना बंद कर दिया है और क्या सभी पाकिस्तानी सिनेमा भारतीयों फिल्मों का बहिष्कार कर रहे हैं??? जबरदस्त पाखंड चल रहा है.”

संबंधित सामग्री