1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

भारत ने एलओसी पार करके आतंकवादियों को मार गिराया: सेना

भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया है. भारतीय सेना का कहना है कि उसने एलओसी पार करके हमले किए हैं. लक्ष्य तय करके किए गए इन हमलों की पाक ने निंदा की है.

भारतीय सेना ने पाकिस्तान पर लक्षित हमले किए हैं. बीती रात कश्मीर सीमा पर भारतीय सेना ने कई हमले किए हैं. भारत के रक्षा मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि आगे ऐसे हमलों की कोई योजना नहीं है. पाकिस्तानी सेना ने भारत के इन दावों को गलत बताया है. पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि लक्षित हमले की बात गलत है, बस सीमा पार से गोलीबारी हुई थी. पाक सेना की ओर से जारी बयान में कहा गया है, "भारत फर्जी प्रभाव पैदा करने के लिए ऐसे दावे कर रहा है कि उसने एलओसी पार करके लक्षित हमले किए." पाक सेना ने कहा कि भारत की सेना सीमा पर हुई गोलीबारी को लक्षित हमले बताकर मीडिया में हौवा बनाने की कोशिश कर रही है और सच के साथ छेड़छाड़ है.

भारतीय रक्षा मंत्रालय ने कहा, "बीती रात भारत ने एलओसी के पार लक्षित हमले किए हैं. ये हमले अपने देश की रक्षा के किए गए हैं. भारत पर हमले की तैयारी कर रहे कई आतंकवादियों और उनके रक्षकों को मार गिराया गया. फिलहाल और ऐसे हमलों की कोई योजना नहीं है. भारत ने पाकिस्तान से इस बारे में बात कर ली है."

भारतीय सेना ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन हमलों के बारे में जानकारी दी. सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा, "एलओसी के पार आतंकवादी मौजूद थे. वे भारतीय सीमा पार करके जम्मू कश्मीर और कई अन्य बड़े शहरों में हमला करने की तैयारी में थे." पाकिस्तान ने भारत की इस कार्रवाई का तीखा जवाब दिया है. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने सीमा पर गोलीबारी की तीखी निंदा की है. उन्होंने कहा, "हम इस हमले की कड़ी निंदा करते हैं. शांति की हमारी चाहत को हमारी कमजोरी नहीं समझा जाना चाहिए."

भारतीय सेना का कहना है कि पुख्ता जानकारी के आधार पर ये हमले किए गए थे. डायरेक्टर जनरल (मिलिट्री ऑपरेशंस) लेफ्टिनेंट जनरल रणबीर सिंह ने कहा, "एलओसी के पार भारत ने बडी़ संख्या में आतंकवादी मारे हैं. सटीक और विश्वसनीय जानकारी के आधार पर इन हमलों को अंजाम दिए गया." उन्होंने कहा कि मैंने पाकिस्तान डीजीएमओ से बात की और उन्हें अपनी चिंताओं के बारे में बताते हुए इन हमलों की जानकारी दी.

सेना की प्रेस कॉन्फ्रेंस से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में सुरक्षा मामलों पर कैबिनेट की समिति की बैठक हुई. प्रधानमंत्री मोदी पहले ही कह चुके हैं कि उड़ी में मारे गए 18 सैनिकों का बदला दिया जाएगा. भारतीय सेना का कहना है कि बीते सप्ताह सीमा पार से आए चार आतंकवादियों ने उड़ी में भारत की सेना के एक कैंप पर हमला करके 18 सैनिकों को मार दिया था. हमले में चारों आतंकवादी भी मारे गए थे. इस आतंकी हमले के बाद भारत और पाकिस्तान में तनाव बना हुा है.

वीके/एके (पीटीआई)

तस्वीरों में देखिए, एलओसी जैसी सबसे कठोर सीमाएं

DW.COM

संबंधित सामग्री