चीन में लगा बर्फीली कलाकृतियों का मेला | दुनिया | DW | 05.01.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चीन में लगा बर्फीली कलाकृतियों का मेला

चीन के उत्तरी शहर हार्बिन में बर्फ से बनी चमचमाती मूर्तियों को देखने लोग पहुंच रहे हैं. वहां दुनिया का सबसे बड़ा आइस एंड स्नो फेस्टिवल चल रहा है, जो फरवरी के अंत तक चलेगा.

चीन के उत्तरपूर्वी प्रांत हेइलोंगजियांग में होने वाला यह कार्यक्रम न सिर्फ चीन के लोगों को, बल्कि दुनिया भर के पर्यटकों को इस ठंडे इलाके की ओर खींच कर लाता है. जाड़े के दिनों में यहां तापमान शून्य से 35 डिग्री नीचे तक पहुंच सकता है. यह चीन के सबसे ठंडे इलाकों में से एक है.

दक्षिणी चीन के गुआंजी क्षेत्र की पर्यटक छिंग वेन्यू भी ऐसे ही एक पर्यटक हैं. उन्हें भी ये बर्फीली मूर्तियां खूब पसंद हैं जो नदी के जम जाने से बनी बर्फ से तैयार की गई हैं. आइस राइड के बाद छिंग ने बताया कि उन्होंने स्कूल की किताबों में पढ़ा था कि देश के उत्तरी हिस्से में कैसी बर्फ होती है और इसलिए यह जगह पिछले 10 सालों से उन्हें आकर्षित कर रही है.

देखिए बर्फ और रोशनी का उत्सव

नजदीक ही, कलाकार अपनी बर्फीली कलाकृतियों पर काम कर रहे थे. इनमें से कुछ मशहूर व्यक्तियों और ऐतिहासिक स्मारकों जैसी नजर आती है. मसलन पीसा की झुकी हुई मीनार भी आप यहां देख सकते हैं, पर बर्फ की बनी हुई.

इस मूर्तियों को बनाने का काम दिसंबर के मध्य में ही शुरू हो जाता है. फेस्टिवल की वेबसाइट के मुताबिक बर्फ से बने कुछ प्रोजेक्ट दो से तीन मंजिला ऊंचे भी होते हैं.

बर्फ की मूर्तियों के अलावा, हार्बिन में आने वालों के लिए तमाम अन्य गतिविधियां भी होती हैं. इनमें सर्दियों में होने वाली तैराकी, बर्फ बोटिंग के साथ-साथ बर्फ पर होने वाला सामूहिक विवाह समारोह भी शामिल है और यहां दुनिया भर से लोग शादी करने पहुंचते हैं.

दक्षिणी फुजियान प्रांत से आई 31 वर्षीय चांग यानयान कहती है कि वह इस रंगारंग रोशनी की ओर खिंची जा रही हैं जो बर्फ की मूर्तियों को रात में रोशन कर रही है. वह कहती हैं, "यह वाकई बहुत खूबसूरत है और मुझे बहुत पसंद आ रहा है.”

एए/एके (रॉयटर्स)

देखिए विंटर स्पोर्ट्स के लिए बेहतरीन 10 जर्मन ठिकाने

DW.COM

संबंधित सामग्री