1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

आपकी चैट में घुस जाएगी गूगल की ऐलो

गूगल का वर्चुअल असिस्टें ऐलो लॉन्च हो गया है. यह आपके चैट में घुसने तक की ताकत रखती है. आपसे बातें करेगी और आपको बताएगी क्या करना है और क्या नहीं.

गूगल आपकी चैट में घुस जाना चाहता है. होगा यूं कि अगर आप किसी से चैट करते वक्त लंच या डिनर जैसे शब्द लिखेंगे तो गूगल की चैट असिस्टेंट बीच में बोलने लगेगी कि फलां रेस्तरां में चले जाओ या यहां पास में एक नया रेस्तरां खुला है. गूगल की यह वर्चुअल असिस्टेंट बेधड़क आपकी बातें पढ़ेगी और बीच-बीच में कॉमेंट भी करेगी. क्या आप तैयार हैं?

गूगल के इस नए ऐप का नाम है ऐलो. कंपनी का दावा है कि यह एक स्मार्ट ऐप है जो आपकी जिंदगी को आसान बनाने की कोशिश करेगा. मसलन, रोज के मौसम का हाल, मैच के नतीजे तो बताएगा ही, साथ ही ये भी बताएगा कि आपके फलां दोस्त के इस वाले मेसेज का ये जवाब हो सकता है.

अभी जो वर्चुअल असिस्टेंट ऐप हैं वे तब जवाब देते हैं जब आप उनसे सवाल करते हैं. जैसे एप्पल का सीरी ऐप. लेकिन ऐलो खुद ब खुद सोचेगा. यह आपके व्यवहार को लगातार स्टडी करेगा और उसके हिसाब से आपसे अपने आप बात करेगा. विचार यह है कि ऐलो से आप लगातार जुड़े रहें ताकि आपको कहीं और जाना ही ना पड़े. गूगल ने इसी हफ्ते यह ऐप लॉन्च किया है. यह ऐंड्रॉयड फोन के अलावा आईफोन और आईपैड पर भी काम करेगा.

देखिए, अब फ्रिज में होगी खेती

क्या कर सकता है ऐलो

ऐलो आपकी चैटिंग में मदद करेगा. आपके दोस्त का सवाल पढ़कर खुद ही सुझाव देगा कि यह जवाब दे सकते हैं और उसे टाइप भी कर देगा. जैसे आपका दोस्त पूछता है कि क्या हाल है तो ऐलो खुद ही लिख देगा, सब बढ़िया है. ऐलो फोटो देखकर उनके लिए जवाब भी दे सकता है. जैसे आपका कोई दोस्त अगर चैट पर फोटो भेजता है तो उस फोटो को देखकर ऐलो उसका विश्लेषण करेगा और फिर जवाब देगा, जैसे अच्छे लग रहे हो या फिर बड़ी प्यारी स्माइल है आदि. हालांकि, आप यह बात हमेशा याद रखें कि यह एक सॉफ्टवेयर है और जरूरी नहीं कि इसके सारे जवाब सही हों या वही हों जो आप कहना चाहते हैं. और आप अपने जवाब भी टाइप कर सकते हैं.

चैट के दौरान अगर आप किसी दोस्त के साथ घूमने का, कहीं बाहर जाने का या कहीं बाहर खाने का प्लान बना रहे हैं तो ऐलो बीच में कूद पड़ेगा. यह आपको बताने लगेगा कि फलां मूवी देख सकते हैं. या फिर, वहां आजकल सेल लगी है, शॉपिंग कर सकते हैं. या उस जगह की टिकट सस्ती मिल रही हैं तो वहां घूमने जा सकते हैं. ऐलो को इतना स्मार्ट बनाया गया है कि यह आपकी जरूरतों को खुद ही समझ लेगा और बिना पूछे ही बता भी देगा.

देखिए, ऐसे होंगे भविष्य के गांव

जानकारी तो देगा ही

ऐलो आपको हर जानकारी देता रहेगा. आज की खबरें क्या हैं, खेलों में क्या चल रहा है, करंसी रेट क्या है जैसी बातें तो ऐलो रोज ब रोज आपको बताया ही करेगा. ऐंड्रॉयड फोन में गूगल नाउ फीचर काफी समय से है और ऐलो उसी का अगला वर्जन लगता है. लेकिन कई मामलों में गूगल नाउ बेहतर था. मसलन ऐलो आपको ट्रैफिक कंडिशंस अपने आप नहीं बता पाएगा या यह नहीं बताएगा कि घर कितनी देर में पहुंच सकते हैं.

वीके/एके (एपी)

तस्वीरों में: भविष्य के यंत्र

DW.COM