1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

शरणार्थी समर्थक जर्मन मेयर पर चाकू से हमला

पश्चिम जर्मनी में अल्टेना शहर के मेयर पर चाकू से हमला किया गया है, जिसे अधिकारियों ने राजनीति से प्रेरित हमला बताया है. अल्टेना की पहचान शरणार्थियों का खुले दिल से स्वागत करने वाले शहर के रूप में है.

अल्टेना जर्मन राज्य नॉर्थ राइन वेस्टफालिया में पड़ता है जहां के मेयर आंद्रेयास होलश्टाइन का संबंध चांसलर अंगेला मैर्केल की पार्टी सीडीयू पार्टी से है. सोमवार की शाम को वे एक कबाब की दुकान में थे, तब उन पर चाकू से हमला किया गया. तुरंत ही उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया. स्थानीय मीडिया के मुताबिक उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी है और उनके गले के आसपास छिटपुट चोट आयी है.

जर्मनी में बेघरों की संख्या 150 फीसदी बढ़ी

जिस्म बेचो या फिर भूखे मरो

बताया जाता है कि होलश्टाइन पर हमला करने आया व्यक्ति भी घायल हुआ है. मेयर होलश्टाइन ने मंगलवार को प्रेस कांफ्रेस कर उन लोगों का धन्यवाद किया जिन्होंने हमले के दौरान हमलावर को काबू किया. उनका कहना है कि अगर हमलावर को काबू नहीं किया जाता को वह उनकी हत्या कर सकता था. उन्होंने कहा, "हां, मैं अपनी जान को लेकर चिंतित था."

होलश्टाइन का कहना है कि उन्हें भी दूसरे राजनेताओं की तरह नफरत भरे संदेश और धमकियां मिलते हैं. उनका कहना है कि हमले के बाद भी उन्हें ईमेल मिले जिनमें कहा गया कि हमलावर ने बिल्कुल ठीक किया.

चांसलर अंगेला मैर्केल ने इस हमले पर दुख जताया है. ट्विटर पर अपने प्रवक्ता के जरिये उन्होंने कहा, "मेयर आंद्रेयास होलश्टाइन पर हुए हमले से मैं आतंकित हूं. यह सुन कर मुझे बहुत राहत मिली है कि वे वापस अपने परिवार के पास पहुंच गये हैं. जिन लोगों ने भी उनकी मदद की, उन्हें धन्यवाद."

वहीं नॉर्थ राइन वेस्टफालिया राज्य के मुख्यमंत्री आरमिन लाचेट ने इस हमले को राजनीति से प्रेरित बताया है. उन्होंने कहा, "अधिकारी यह मान कर इस मामले की जांच कर रहे हैं कि इसके पीछे कोई राजनीतिक मकसद है."

वीडियो देखें 01:43

ऐसा होता है शरणार्थियों का सफर

एक जर्मन वेबसाइट डब्ल्यूएजेड के अनुसार संदिग्ध शराब पिये हुए था और हमला करने से पहले उसने होलश्टाइन से पूछा कि क्या वही मेयर हैं. लाचेट के अनुसार संदिग्ध ने प्रवासी नीति को लेकर भी टिप्पणियां कीं.

होलश्टाइन के नेतृत्व में अल्टेना ने उससे कहीं ज्यादा शरणार्थियों को अपने यहां जगह दी है जितने राष्ट्रीय कोटे के तहत लेने जरूरी हैं. ऐसे में वे और उनका शहर खासा चर्चा में रहे. जर्मनी ने 2015 के शरणार्थी संकट के बाद अपने यहां मध्यपूर्व और अफ्रीका से आने वाले 10 लाख से ज्यादा लोगों को जगह दी है. दो साल पहले जर्मनी के शहर कोलोन की मेयर हेनरिएटे रेकर पर भी जानलेवा हमला किया गया था जिसमें वे गंभीर रूप से घायल हो गयी थीं. वे भी अपने प्रवासी समर्थक रुख के लिए जानी जाती हैं.

एके/आईबी (एपी, एएफपी)

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री