1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

मेसी ने संन्यास का नाटक कियाः माराडोना

अमेरिकन कप के फाइनल में हारने पर संन्यास लेने वाले लियोनेल मेसी टीम में लौट आए. लेकिन माराडोना को लगता है कि सब नाटक था. उन्होंने मेसी की आलोचना की है.

अपने वक्त के महान फुटबॉल अर्जेंटीना के डिएगो माराडोना ने मौजूदा वक्त के स्टार फुटबॉलर लियोनेल मेसी की तीखी आलोचना की है. उन्होंने कहा है कि मेसी का अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास लेना और फिर टीम में लौट आना एक नाटक था. उन्होंने कहा, "मुझे नहीं पता कि यह नाटक हम लोगों को यह समझाने के लिए किया गया कि मेसी तीन फाइनल हार गया या किसी और बात के लिए, लेकिन हम तो कभी बड़े अंतर से नहीं हारे."

देखें, कौन से जानवर हैं ये खिलाड़ी

अर्जेंटीना की फुटबॉल टीम अमेरिकन कप के फाइनल में चिली से हार गई थी. जून में हुए इस मैच में चिली ने पेनल्टी शूटआउट में अर्जेंटीना को हरा दिया था और इसकी जिम्मेदारी मेसी पर आन पड़ी थी क्योंकि वह गोल नहीं कर पाए थे. यह लगातार तीसरा बड़ा फाइनल था जिसमें अर्जेंटीना हार गया था. इससे पहले वर्ल्ड कप और पिछला अमेरिकन कप भी मेसी के नेतृत्व वाली टीम फाइनल में पहुंचकर हार गई थी. इसके बाद मेसी ने अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास का एलान कर दिया था.

मेसी ने कहा था, "मेरे लिए राष्ट्रीय टीम के साथ के सफर का अंत हो गया है. मुझसे नहीं हो पाएगा. मेरे ख्याल से सबके लिए, मेरे लिए भी और ऐसा चाहने वाले लोगों के लिए भी यही सबसे अच्छा होगा. मेरे लिए कोई और विकल्प नहीं है. यह अंतिम फैसला है."

तस्वीरें देखिए, होश उड़ा देगी इनकी कमाई

माराडोना को लगता है कि मेसी लोगों की बातों से चिढ़ गए और उनकी इस तरह की प्रतिक्रिया ने देश में काफी लोगों को नाराज किया. एक रेडियो चैनल से बातचीत में माराडोना ने कहा, "वह बिना किसी बात के चिढ़ गए. हार के लिए वह जिम्मेदार नहीं थे, बाकी लोग थे. तो उन्होंने संन्यास क्यों लिया? इतनी जल्दी प्रतिक्रिया कि लोगों के दिल की धड़कनें थम जाएं कि वह लौटेंगे या नहीं."

मेसी ने इसी महीने की शुरुआत में संन्यास का फैसला बदलते हुए टीम में वापस आने का ऐलान किया. बताया जाता है कि उन्हें नए कोच एडगर बाउजा ने वापसी के लिए मनाया. वापसी का ऐलान करते हुए उन्होंने कहा, "फाइनल वाले दिन मेरे जहन में बहुत कुछ चल रहा था. मैंने रुकने के बारे में बहुत सोचा लेकिन मैं अपने देश से प्यार करता हूं."

देखें, फुटबॉल के ड्रामेबाज

DW.COM

संबंधित सामग्री