1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बेटी के बलात्कारी को 1503 साल की कैद

अमेरिका के कैलिफॉर्निया में एक व्यक्ति को अपनी बेटी का बलात्कार करने के लिए 1503 साल की सजा सुनाई गई है. राज्य में किसी को दी गई अब तक की यह अधिकतम सजा है.

इस व्यक्ति ने चार साल तक अपनी बेटी के साथ बलात्कार किया. पिछले हफ्ते 41 साल के व्यक्ति को सजा सुनाई गई.

पुलिस ने अपराधी का नाम सार्वजनिक नहीं किया है क्योंकि इससे पीड़ित लड़की की पहचान जाहिर हो सकती है. सजा का ऐलान करते हुए जज एडवर्ड सारकिसियन जूनियर ने कहा कि दोषी समाज के लिए एक गंभीर खतरा है जिसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है बल्कि वह अपनी बेटी को ही जिम्मेदार मानता है.

सरकारी वकील निकोल गैल्सटन के मुतबिक पीड़ित लड़की के साथ पहले एक पारिवारिक मित्र ने यौन दुर्व्यवहार किया था लेकिन अपनी बेटी की रक्षा करने के बजाय दोषी ने उसे उपभोग की एक चीज बना डाला. गैल्सटन ने बताया कि मई 2009 से मई 2013 के बीच पीड़ित के साथ हर हफ्ते दो से तीन बार तक रेप हुआ. आखिरकार 2013 में लड़की भागने की हिम्मत जुटा पाई.

जानिए, रेप के लिए कहां कितनी सजा है

सितंबर में जूरी ने आरोपी को 186 अपराधों का दोषी पाया था. इनमें नाबालिग से बलात्कार के 12 से ज्यादा मामले भी थे. पीड़ित लड़की अब 23 साल की हो चुकी है. मुकदमे के दौरान उसने जज को बताया, "जब मेरे पिता ने मेरे साथ दुर्व्यवहार किया तो मैं छोटी थी. ना मैं कुछ बोल सकती थी, ना कुछ कर सकती थी. मैं एकदम कमजोर थी." लड़की ने कहा कि उसके पिता को उसका शोषण करने पर जरा भी पछतावा नहीं होता था.

पकड़े जाने के बाद दोषी को कबूलनामे के बदले सजा कम करने की पेशकश दी गई तो उसने ठुकरा दी. सरकारी वकील ने कहा था कि अगर तुम अपना अपराध कबूल कर लेते हो तो तुम्हें 13 साल की सजा मिलेगी. लेकिन वह राजी नहीं हुआ और उसने मुकदमा लड़ा. मुकदमे के दौरान भी उसे एक पेशकश दी गई कि अपना अपराध मान लो तो 22 साल की सजा मिलेगी. लेकिन उसने इसे भी ठुकरा दिया और कहा कि वह जल्दी ही जेल से रिहा हो जाएगा.

जानिए, क्या है टू फिंगर टेस्ट

जज ने अधिकतम सजा देते हुए कहा, "उसने लड़की के कितने ही साल बर्बाद कर दिए और उसे अहसास दिलाया कि जैसे उसी की गलती हो." यह सजा अपने आप में अलग है क्योंकि ऐसे ही एक मामले में व्यक्ति को जेल नहीं भेजा गया था. मोंटाना के उस मामले में दोषी ने अपनी 12 साल की बेटी से बलात्कार किया था. उसने अपराध कबूल कर लिया था तो जज ने उसे 60 दिन जेल के बाद 30 साल की निलंबित सजा देकर छोड़ दिया था.

वीके/एके (एपी)

DW.COM