1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ऐसे कभी नहीं मना था जर्मन एकीकरण दिवस

जर्मनी के पूर्वी शहर ड्रेसडेन में सैकड़ों दक्षिणपंथी प्रदर्शनकारियों ने 26वें जर्मन एकीकरण दिवस के अवसर पर चर्च सर्विस में हिस्सा लेने पहुंची चांसलर अंगेला मैर्केल के खिलाफ नारेबाजी की.

कोई चिल्लाया "लोगों से गद्दारी करने वाली!" तो किसी ने कहा "चली जाओ!" - ऐसे नाराजगी भरे नारों से जर्मन चांसलर मैर्केल का स्वागत होना कोई आम बात नहीं है. 26वें जर्मन एकीकरण दिवस के अवसर पर ड्रेसडेन के प्रसिद्ध चर्च फ्राउएनकिर्षे की सर्विस में हिस्सा लेने पहुंची चांसलर के खिलाफ बाहर इकट्ठे अति दक्षिणपंथी प्रदर्शकारियों ने सीटियां बजाईं और नारे लगाए. मैर्केल के अलावा इस आयोजन में राष्ट्रपति योआखिम गाउक और गृह मंत्री थोमास दे मेजियेर भी मौजूद थे.

अति दक्षिणपंथी दल चांसलर मैर्केल की शरणार्थियों के लिए देश के द्वार खोल देने की नीति से खासे नाखुश हैं और इसे जताने के लिए ड्रेसडेन एक प्रमुख केंद्र रहा है. इतने तनावपूर्ण माहौल के बावजूद मैर्केल ने देशवासियों को एकीकरण दिवस मनाने और बीते 26 सालों की उपलब्धियों पर संतुष्ट होने का संदेश दिया.

कम्युनिस्ट पूर्वी जर्मनी में पैदा हुई मैर्केल ने इस अवसर पर कहा, "मेरे लिए निजी तौर पर, और जर्मनी के ज्यादातर लोगों के लिए यह एक खुशी और आभार का दिन है." हालांकि उन्होंने माना कि अब देश में "नई चुनौतियां और नई समस्याएं" हैं और इसके लिए जर्मन लोगों को "आपसी सम्मान और दूसरे राजनीतिक नजरियों के प्रति स्वीकार्यता दिखानी होगी, जिससे हम सही समाधान तलाश सकेंगे."

पिछले केवल एक साल में ही जर्मनी पहुंचे दस लाख शरणार्थियों के मुद्दे पर जर्मन समाज बंटा हुआ दिख रहा है. हालांकि 2016 में अब तक उससे काफी कम, लगभग दो लाख लोग ही पहुंचे हैं. फिर भी अति दक्षिणपंथी पार्टियां इसे बड़ा राजनीतिक मुद्दा बना कर आप्रवासन की अधिकतम सीमा तय करने की मांग करती रही हैं. चांसलर मैर्केल ऐसी सभी मांगों को मना करती आई हैं लेकिन उन्होंने ऐसे लोगों को वापस उनके देश भेजे जाने की प्रक्रिया को तेज किया है जिनका शरण का आवेदन जर्मनी में रद्द हो जाता है.

ड्रेसडेन में सुरक्षाकर्मियों की तैनाती के बावजूद पिछले हफ्ते दो जगहों पर घर में बने दो छोटे बम धमाके हुए. एक धमाका मस्जिद के बाहर और दूसरा शहर के एक कॉन्फ्रेंस सेंटर के बाहर किया गया. इसमें पुलिस की तीन कारें बर्बाद हुईं. सैक्सनी राज्य की राजधानी ड्रेसडेन में ही इस्लामविरोधी गुट पेगीडा का भी गढ़ है. शरणार्थी संकट की छाया में यह गुट अतिदक्षिणपंथी और प्रवासी विरोधी विचार रखने वालों के लिए चुंबक बन गया है.

दूसरे विश्व युद्ध के खत्म होने के बाद से जर्मनी कम्युनिस्ट पूर्वी और पूंजीवादी पश्चिमी जर्मनी में बंट गया था. 3 अक्टूबर 1990 को दोनों हिस्से मिल गए और एकीकृत जर्मनी बना.

आरपी/एमजे (डीपीए,एपी,रॉयटर्स)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री