1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दुनियाभर से लड़कियां पुरूष बनने सर्बिया जा रही हैं

सर्बिया में हाल के दिनों में सेक्स चेंज के लिए दुनियाभर से लोग पहुंच रहे हैं. इसकी वजह है यूरोप और अमेरिका के मुकाबले बेहद कम खर्च में ऑपरेशन.

जिस देश में गे प्राइड परेड आयोजित कराने के लिए भारी-भरकम सुरक्षा उपलब्ध करानी पड़ती है, जहां आधे से ज्यादा लोग मानते हों कि समलैंगिकता एक बीमारी है, उस देश में दुनियाभर के समलैंगिक सेक्स चेंज कराने पहुंच रहे हैं.

इटली की एक महिला सेक्स चेंज करवाकर पुरुष बनना चाहती थी. 14 साल पहले उसने प्रक्रिया शुरू की थी. उसने बेल्जियम, ब्रिटेन और जर्मनी में भी डॉक्टर खोजे. आखिरकार 38 साल साल की इस महिला की तलाश सर्बिया की राजधानी बेलग्रेड में खत्म हुई जहां उन्हें यूरोलोजिस्ट सर्जन मीरोस्लाव जोर्जेविच मिले. जोर्जेविच ने उनकी जेनिटल रीकन्सट्रक्टिव सर्जरी की. सर्जरी के बाद दाढ़ी उगाए कोमल आवाज वाले इस पुरूष ने बताया, "मैंने बहुत रिसर्च की थी. बहुत सारे अस्पतालों से बात की. और मैंने पाया कि जिससे भी बात की है, लगभग सारे ही डॉ. जोर्जेविच के स्टूडेंट थे. तो मैं इस ज्ञान के मूल केंद्र पर जाना चाहता था."

तस्वीरों से जानिए, LGBT की एबीसीडी

डॉ. जोर्जेविच हर साल लगभग 100 अंतरराष्ट्रीय मरीजों का सेक्स चेंज ऑपरेशन कर रहे हैं. इनमें जापान, ब्राजील, दक्षिण अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका के भी मरीज हैं. लगभग 20 मरीज यूगोस्लावियाई इलाके के हैं. उनके मरीजों में 85 फीसदी ऐसे हैं जो महिलाओं से पुरूष बनना चाहते हैं. मेडिकल साइंस के मुताबिक यह बेहद जटिल प्रक्रिया है. पुरुष से महिला बनना इसके मुकाबले आसान है.

ऐसा नहीं है कि सर्बिया में मेडिकल सेवाएं बहुत अच्छी हैं. और ऐसा भी नहीं है कि विदेशी यहां हर चीज का इलाज कराने आते हैं. हालांकि दांतों की सर्जरी के लिए कुछ अंतरराष्ट्रीय मरीज यहां आते हैं क्योंकि खर्च कम होता है. इटली के जिस मरीज ने यहां सर्जरी कराई, उसका पूरा खर्च 15 हजार यूरो का था. अगर यही सर्जरी उसने ब्रिटेन में कराई होती तो उसे 60 हजार यूरो खर्च करने होते. लंदन के यूरोलॉजिस्ट, जो पुरुष जननांग बनाने के विशेषज्ञ हैं, मानते हैं कि लोग पैसे बचाने के लिए ही सर्बिया जा रहे हैं.

देखिए, समलैंगिकता की आजादी वाले इस्लामिक देश

वह कहते हैं, "आखिर में तो सबको वही चीज मिलनी है." लेकिन जोर्जेविच ऐसा नहीं मानते. 51 साल के जोर्जेविच कहते हैं, "गालस्टोन का इलाज हमारे यहां जर्मनी से 5 गुना ज्यादा सस्ता है लेकिन यह इलाज कराने हमारे यहां कोई नहीं आता." जोर्जेविच ने अपना अस्पताल 2006 में शुरू किया था. दुनिया में ऐसे 20 से कम अस्पताल हैं जहां महिला से पुरूष बनने का ऑपरेशन होता है. और जोर्जेविच का अस्पताल इस मायने में भी अलग है कि यहां "पूरी प्रक्रिया एक ही बार में पूरी हो जाती है." वह बताते हैं, "ब्रेस्ट हटाने, अंदरूनी जननांग हटाने और पुरुष जननांग पैदा करने का काम एक ही बार में कर देते हैं."

वीके/एके (एएफपी)

DW.COM