1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चुनाव के ठीक पहले हिलेरी को ईमेल विवाद में राहत

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया के अंतिम चरण में डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को एफबीआई की ओर से राहत मिली है. ईमेल विवाद से उबरने के बाद चुनाव प्रचार के आखिरी दिन क्लिंटन खेमे में नया उत्साह है.

अमेरिका में अहम आपराधिक मामलों की जांच करने वाली एजेंसी एफबीआई ने ईमेल पर अपनी जांच निपटाने के बाद घोषणा की है कि क्लिंटन के ईमेल इस्तेमाल को लेकर उन पर कोई आपराधिक मामला नहीं बनता. इस खबर के बाद चुनाव प्रचार के आखिरी दिन क्लिंटन और रिपब्लिकन पार्टी के उम्मीदवार डॉनल्ड ट्रंप मंगलवार को होने वाले मतदान के पहले नए सिरे से अपना जोर लगा रहे हैं.

पिछले काफी समय से एक दूसरे को कांटे की टक्कर देते दिख रहे दोनों उम्मीदवारों के बीच ताजा चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में हिलेरी क्लिंटन को थोड़ी बढ़त मिलती दिख रही है. मात्र दस दिन पहले अपने खुलासे से क्लिंटन के ईमेल विवाद में नई जान फूंकने वाले एफबीआई के निदेशक जेम्स कॉमी ने रविवार को कांग्रेस को बताया कि जांचकर्ताओं ने "दिन रात काम करके" नए ईमेलों की जांच पूरी की है. कॉमी ने माना कि एफबीआई ने क्लिंटन के विदेश मंत्री के कार्यकाल के दौरान उनके निजी ईमेल के इस्तेमाल में किसी तरह की आपराधिक गतिविधि का मामला नहीं पाया है.

अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव के कुछ ही दिन पहले कॉमी के इन नए खुलासों पर पहले ही सवाल उठ रहे थे, अब इतनी जल्दी उनकी जांच पूरी कर चुनाव के ठीक पहले नतीजे की घोषणा कर देना भी चर्चा में है. कॉमी के नए ईमेल वाले खुलासे से अब तक बीते दस दिनों में ही कई लाख अमेरिकी मतदाताओं ने अर्ली वोटिंग कर पहले ही अपना मत डाल दिया है. डेमोक्रैटिक पार्टी क्लिंटन को चुनाव के एक दिन पहले मिली एफबीआई की क्लीन चिट से समर्थकों में एक उछाल देखने की उम्मीद कर रहा है.

अमेरिकी संसद की डेमोक्रेट नेता नैन्सी पेलोसी ने कहा, "एफबीआई की इस तेज और गहरी जांच के बाद रिपब्लिकन पार्टी के इस तमाशे पर अंतत: पर्दा गिर जाना चाहिए." उन्होंने उम्मीद जताई कि अब जाकर चुनाव में उम्मीदवारों की योग्यता पर फैसला होगा ना कि इधर उधर की बातों के आधार पर. एफबीआई की घोषणा के बाद ही रिपब्लिकन पार्टी ने क्लिंटन पर तीखे हमले जारी रखे हैं. सोमवार को ट्रंप पांच निर्णायक राज्यों फ्लोरिडा, नॉर्थ कैरोलाइना, पेंसिलवेनिया, न्यू हैंपशर और मिशिगन का दौरा करेंगे. वहीं क्लिंटन भी इनमें से तीन राज्यों में सभाएं करने वाली हैं. इसके अलावा फिलाडेल्फिया में राष्ट्रपति बराक ओबामा और प्रथम महिला मिशेल ओबामा भी क्लिंटन के समर्थन में वोट करने की अपील के साथ शिरकत करेंगे. फ्लोरिडा और नॉर्थ कैरोलाइना को स्विंग स्टेट माना जा रहा है इसलिए दोनों ही उम्मीदवार उसे जीतने की कोशिश में कोई कसर नहीं छोड़ रहे. मतदान 8 नवंबर को होने हैं.  

आरपी/एमजे (रॉयटर्स)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री