1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

बेटी की शादी में ऐसे शामिल हुए मृत पिता

अमेरिका में पैनसिल्वेनिया की एक महिला ने पिछले हफ्ते जब शादी की तो उसके पिता की आत्मा वहां मौजूद थी और उनका दिल भी.

जेनी स्टेपियन ने पिछले शनिवार को शादी की. उन्हें शादी की वेदी की ओर ले जाने के लिए वह शख्स मौजूद था जिसे दस साल पहले जेनी के पिता का दिल मिला था. जेनी के पिता की एक गुंडे ने हत्या कर दी थी. उनकी मौत के बाद उनके अंगों को दान में दिया गया था और केडीकेए टीवी के अनुसार अंग पाने वाले थे न्यू जर्सी के आर्थर थॉमस.

जेनी की शादी पर मौजूद थॉमस ने कहा, "मैं उस समय मौत की दहलीज पर था जब उनकी हत्या कर दी गई. मुझे दिल की जरूरत थी, अन्यथा मैं अगले कुछ दिनों में मरने वाला था." जेनी के पिता के दिल ने आर्थर थॉमस की जान बचा ली.

खुद जेनी स्टेपियन ने कहा कि वे चाहती थीं कि उनके पिता स्विसवेल के सेंट एंसेल्म चर्च में उनके विवाह समारोह का हिस्सा हों. इसलिए उन्होंने सोचा कि थॉमस से पूछना अच्छा रहेगा कि क्या वे उन्हें शादी की वेदी तक ले जाएंगे. थॉमस को इसके बारे में लिखने के बाद वे उनसे मिलीं और 10 साल बाद अपने पिता के दिल को पहली बार धड़कते हुए सुना.

आप उस घड़ी में जेनी की भावनाओं का अनुमान लगा सकते हैं. बाद में जेनी ने कहा, "मैं आभारी हूं कि मेरे पिता आज यहां हैं, अपनी रूह के साथ और अपने शरीर के एक टुकड़े के साथ भी. ये सचमुच हमारे लिए विशेष है."

देखें, शादी के कानून जो होश उड़ा देंगे

जब थॉमस जेनी को लेकर विवाह वेदी की ओर बढ़े तो दोनों ही के चेहरे खुशी से दमक रहे थे. सद्भाव के इस प्रदर्शन ने दूल्हे पॉल मेनर को भी भावुक कर दिया. और थॉमस ने कहा कि वे इससे बड़े सम्मान की बात सोच भी नहीं सकते कि उन्हें उस इंसान की बेटी को विवाह वेदी तक पहुंचाने का अवसर मिले जिसने उन्हें अपना दिल दिया है.

DW.COM

संबंधित सामग्री