1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

आगरा के पास दो स्विस पर्यटकों को लहूलुहान किया गया

उत्तर प्रदेश में आगरा के करीब एक स्विस जोड़े को पीटे जाने का मामला सामने आया है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने उत्तर प्रदेश सरकार से इस बारे में रिपोर्ट मांगी है.

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार घटना रविवार की है जब आगरा से 40 किलोमीटर दूर फतेहपुर सीकरी में कुछ लोगों ने स्विस जोड़े को दौड़ाया और फिर डंडे और पत्थरों से उनकी पिटाई की.

24 वर्षीय क्विंटन जेरेमी क्लेर्क के सिर में गंभीर चोट आयी है जबकि उनकी महिला मित्र मारी द्रोज की भी कुछ हट्टियां टूट गयी हैं. इस घटना ने एक बार फिर भारत में विदेशी पर्यटकों की सुरक्षा को कटघरे में खड़ा कर दिया है. क्लेर्क और द्रोज स्विटजरलैंड के लुसाने शहर से हैं और पर्यटक के तौर पर भारत पहुंचे. उनका फिलहाल दिल्ली में इलाज चल रहा है. विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने इस घटना पर उत्तर प्रदेश से रिपोर्ट मांगी है. 

फतेहपुर सीकरी पुलिस थाने के प्रभारी प्रदीप कुमार का कहना है कि स्विस जोड़ा रेलवे लाइन के आसपास घूम रहा था जब यह घटना हुई. पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि हमला करने वाले चार लोग थे. सबसे पहले वे द्रोज के साथ सेल्फी लेना चाहते थे, लेकिन जल्द ही वे उसके साथ छेड़छाड़ करने लगे और फिर उन पर हमला किया गया. प्रदीप कुमार का कहना है, "पहले वे लोग (स्विस जोड़ा) मामला दर्ज नहीं कराना चाहते थे. पुलिस ने खुद इस सिलसिले में मामला दर्ज किया है."

कई लोगों ने ट्विटर पर पीड़ितों की तस्वीर के साथ दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है.

कई लोगों ने इस घटना को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की आलोचना की है. कांग्रेस के नेता मिलिंद देवड़ा ने ट्वीट किया, "भारत के सबसे बड़े राज्य में कानून व्यवस्था के उल्लंघन की ऐसी शर्मनाक घटना. क्या @myogiadityanath सुन रहे हैं."

फतेहपुर सीकरी आगरा के ताज महल जितना लोकप्रिय तो नहीं है, लेकिन 1572 से लेकर 1585 के दौरान अकबर के दौर में मुगल साम्राज्य की राजधानी रहे इस शहर में अच्छी खासी संख्या में पर्यटक पहुंचते हैं. ऐतिहासिक बुलंद दरवाजा यहीं है.

भारत में पर्यटकों के साथ बदसलूकी की खबरें अकसर सुर्खियां बनती रही हैं. 2014 में आगरा में एक होटल मैनेजर पर एक जर्मन पर्यटक के साथ छेड़छाड़ करने के आरोप लगे. इससे पहले 2007 में आगरा में ही दो जापानी पर्यटकों का सामूहिक बलात्कार किया गया.

कई लोगों का कहना है कि ऐसी घटनाएं देश में ज्यादा से ज्यादा पर्यटकों को आकर्षित करने की सरकार की कोशिशों को धक्का पहुंचाएंगी. आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार पिछले भारत में सिर्फ 88 लाख विदेशी पर्यटक पहुंचे थे. 

स्विस दूतावास की वेबसाइट पर पर्यटकों को भारत में अपराध के उच्च स्तर के बारे में सावधान किया गया है, खासकर आगरा जैसे लोकप्रिय पर्यटन स्थलों के बारे में खास तौर से सैलानियों को सजग किया गया है. 

एके/एनआर (एएफपी, डीपीए) 

 

DW.COM