1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

'गजब थे अंतरिक्ष में गुजार 6 महीने'

3 दिन पहले अंतरारष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन से धरती पर लौटे एस्ट्रोनॉट टिम पीक का कहना है ​वहां उनके 6 म​हीने गजब गुजरे. उनके साथ 2 और अंतरिक्षयात्री लौटे ​हैं.

शनिवार को ब्रिटिश अंतरिक्ष यात्री टिम पीक और उनके सहयोगी रूस के यूरी मेलेंचेन्को और अमेरिका के टिम कोपरा को जब अंतरिक्ष से लौटी सोयूज टीएमए 19एम कैप्सूल से बाहर निकाला गया वे धरती को फिर से देख कर कुछ बहुत हक्के-बक्के और घबराए से दिखाई दिए.

लेकिन मंगलवार को यूरोपियन एस्ट्रोनॉट सेंटर में बोलते हुए पीक एक बार फिर से शांत दिखाई दे रहे थे. उन्होंने कहा, ''अंतरिक्ष में 6 महीने गुजारने का यह मौका एक बड़ा अवसर था.'' पीक अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन के ​किसी अभियान से जुड़ने वाले पहले ब्रिटिश अंतरिक्ष यात्री हैं.

6 म​हीने बाद कजाकिस्तान में में लैंडिंग साइट पर उतरे इन तीनों अंतरिक्ष यात्रियों ने धरती की तेज महक महसूस की. पीक का कहना था, ''फिर से वापस आकर ताजा हवा में सांस लेना अद्भुत अनुभव था.'' उन्होंने कहा कि कैप्सूल बहुत गर्म था और उनका सूट भी. ऐसे में ''अभी ठंडी बरसात में भीगना बेहद खूबसूरत होगा.''

इधर ब्रिटेन में गुरुवार को ब्रेक्जिट के लिए जनमत संग्रह होना है. यूरोप के अंतर्राष्ट्रीय अभियानों में ब्रिटेन की भी अहम भागीदारी है. ऐसे में यूरोप के अंतरिक्ष की गुत्थियां सुलझाने के अभियान के लिए भी इस जनमत संग्रह का परिणाम निर्णायक होना है. जब पीक से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने अपनी राय जाहिर करने में अनिच्छा जताई, ''वोट करना एक व्यक्तिगत बात है इसलिए मैं इस बारे में कुछ नहीं कहने जा रहा.''

लौटने के बाद से पीक को जर्मनी के कोलोन शहर के पास मौजूद यूरोपियन स्पेस ऐजेंसी के ईएसी में लाया गया है. यहां उनके स्वास्थ्य की जांच चल रही है और वे पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण के अनुसार खुद को फिर से ढाल रहे हैं.

जुल्फीकार अबानी/आरजे

DW.COM