1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

दान किया तलाक का पैसा

ग्लैमर जगत ने उसे सबसे खूबसूरत महिला बताया, लेकिन घर के भीतर उसकी जिंदगी बदत्तर थी. शोहरत और सितम की ये दास्तां आखिरकार खत्म हुई.

कैमरे और कामयाबी की चकाचौंध के बीच 30 साल की मॉडल-अभिनेत्री ऐंबर हर्ड जान चुकी हैं कि दुनिया भर में कई महिलाएं और बच्चे किस तरह के हालात में जीते हैं. उन्होंने खुद इस घरेलू हिंसा का सामना किया. पर्दे पर दर्शकों को मुग्ध करने वाला उनका पति जॉनी डेप उन्हें पीटता था.

2011 में वह जॉनी डेप के संपर्क में आई और दोनों के बीच प्यार परवान चढ़ा. फरवरी 2015 में दोनों ने शादी कर ली. लेकिन शादी के सवा साल बाद मई 2016 में ऐंबर ने अपने पति से कानूनन अलग होने और बचने का आवेदन भरा. सबूत देने के लिए जब वह कोर्ट पहुंची तो उनके चेहरे पर चोट के निशान थे. ऐंबर ने अदालत को बताया कि जॉनी डेप ने उन्हें पीटा.

(दुनिया के कई देशों में आज भी महिलाओं के खिलाफ कई अजीबोगरीब कानून हैं, देखिये)

इसके बाद तलाक की प्रक्रिया शुरू हुई. अगस्त 2016 में आपसी सहमति से तलाक हो गया. तलाक के सेटलमेंट के तहत जॉनी डेप अपनी पूर्व पत्नी को 70 लाख डॉलर का हर्जाना देंगे. वहीं ऐंबर ने तलाक की सारी रकम घरेलू हिंसा का सामना करने वाली महिलाओं और बीमार बच्चों के नाम करने का ऐलान किया है. 70 लाख डॉलर की रकम अमेरिकन सिविल लिबर्टीज यूनियन और चिल्ड्रेन्स हॉस्पिटल लॉस एजेंलिस के बीच बांटी जाएगी.

ऐंबर ने कहा कि, "रिस्ट्रेनिंग ऑर्डर और तलाक सेंटलमेंट में भी यह साफ है कि व्यक्तिगत रूप से मेरे लिए पैसा कोई भूमिका नहीं निभाता है. यहां पैसे की भूमिका सिर्फ इतनी है कि मैं इसे सेवार्थ दान कर रही हूं और उम्मीद है कि मैं उन लोगों की मदद कर पाऊंगी जो खुद को बचाने की हालत में नहीं हैं."

DW.COM