1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

9/11 के हमलों के लिए अमेरिका जिम्मेदार: ईरान

ईरान के राष्ट्रपति महमूद अहमदीनेजाद ने गुरुवार को कहा कि दुनिया के ज्यादातर लोग मानते हैं कि 9/11 के हमले के पीछे अमेरीकियों का हाथ था. बयान से भड़के अमेरिका ने इसे घिनौना और भ्रम फैलाने वाला बयान करार दिया.

default

अमेरिका पर फिर निशाना

संयुक्त राष्ट्र में अहमदीनेजाद के बयान देने के साथ ही वहां मौजूद अमेरिकी और यूरोपीय देशों के प्रमुख प्रतिनिधि बैठक से बाहर चले गए. अहमदीनेजाद ने साफ साफ कहा, " केवल अमेरिकी सरकार के अधिकारी ही मानते हैं कि 2001 में न्यूयॉर्क के वर्ल्ड ट्रेड सेंटर और पेंटागन पर हमला किसी आतंकवादी संगठन ने किया. लेकिन अमेरिकी सरकार में शामिल कुछ लोगों ने नीचे जा रही अमेरिकी अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और मध्यपूर्व एशिया में अपनी पकड़ मजबूत करने के लिए ये हमला कराया."

अहमदीनेजाद ने यह भी कहा, "ज्यादातर अमेरिकियों के साथ ही दुनिया के सारे लोग और राजनेता मेरी इस बात से सहमत हैं." अहमदीनेजाद ने ये बात 192 सदस्य देशों वाले संयुक्त राष्ट्र की वार्षिक आमसभा में कही. अमेरिका ने अहमदीनेजाद के इस बयान पर कड़ी

USA Jahrzehnt Flash-Galerie 2001 September 11

दुनिया को हिला दिया 9/11 ने

प्रतिक्रिया जताई है. संयुक्त राष्ट्र में अमेरिकी मिशन के प्रवक्ता मार्क कॉर्नब्लाउ ने कहा, "ईरान की जनता की उम्मीदों और भरोसे को संयुक्त राष्ट्र तक पहुंचाने के बजाय अहमदीनेजाद साजिश के सिद्धांतो और यहूदी विरोध को हवा दे रहे हैं. उनका यह बयान घिनौना और भ्रम फैलाने वाला है."

अहमदीनेजाद के इन बयानों से असहमति जताते हुए यूरोपीय देशों के प्रमुख प्रतिनिधि भी सम्मेलन से बीच में उठकर चले गए. इस घटना ने पिछले साल की याद ताजा कर दी है जब संयुक्त राष्ट्र में अहमदीनेजाद जैसे ही बोलने के लिए खड़े हुए सम्मेलन में मौजूद आधे से ज्यादा प्रतिनिधि वहां से चलते बने. ईरान संयुक्त राष्ट्र, अमेरिका और यूरोपीय संघ के लगाए कड़े प्रतिबंधो का सामना कर रहा है.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links