1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

42 हजार साल पुराना हाथी

मंथन में इस बार दुनिया से गायब हुए जानवरों की बात होगी. साथ ही बताएंगे क्या होता है वर्चुअल पावर प्लांट. खाने के शौकीनों के लिए भी इस बार कुछ है खास.

बर्फ की परत के नीचे अनेक राज दबे पड़े हैं. बर्फ की चादर जब हटती है तो वैज्ञानिकों को ऐसे ऐसे जीव मिलते हैं जो हजारों साल पहले इस धरती से गायब हो चुके हैं. वैज्ञानिक जानवरों की हड्डी और बाल की मदद से कई परीक्षण करते हैं. इन परीक्षणों से यह पता करने की कोशिश की जाती है कि वे किन हालातों में इस धरती से गायब हुए. इन खोज की मदद से वैज्ञानिक जीवन के रहस्यों को जानने की दिशा में आगे बढ़ते हैं. मंथन में इस बार आपको जानने को मिलेगा कि 42 हजार साल पहले मैमथ हाथी कैसा दिखता था और उसके मिलने से वैज्ञानिक को किस तरह का फायदा हो सकता है.

धुव्रों और पहाड़ों की बर्फ में अब भी कई राज दबे हैं. इनके जरिए काफी जानकारी जुटाई जा सकती है. जब भी बर्फ पिघलती है तो शोधकर्ताओं को कई बार पूरे जानवर मिलते हैं, जिनके अंगों को बर्फ ने बचाकर रखा है. वैज्ञानिक इस मैमथ हाथी के जीवाश्म के अध्ययन से इन जानवरों की उत्पत्ति और इनके पतन के बारे में जानना चाहते हैं. इसके अलावा मंथन में बात होगी शार्क रिबलेट की जो शार्क को बिना किसी प्रतिरोध के पानी पर फिसलने में मदद करती हैं. रिबलेट त्वचा में बना एकदम छोटा सा खांचा होता है. मंथन में जानिए कि वैज्ञानिकों ने किस तरह से एक वार्निश तैयार किया है जो शार्क के चमड़े की नकल हो सकती है. जानिए इस पेंट की क्या है खूबी.

वर्चुअल पावर प्लांट

पर्यावरण बचाना है तो इंधन बचाना होगा. इसलिए हर कहीं बिजली बचाने के उपाय निकाले जा रहे हैं. इसके लिए वर्चुअल पावर प्लांट बन रहे हैं. एक हजार छोटे पावर प्लांट्स को मिलाकर ऊर्जा का एक अच्छा स्रोत बनाया जा सकता है. सौर पैनल, पवन चक्की और बायोगौस, सब मिलाकर एक परमाणु रिएक्टर जितनी ऊर्जा पैदा करते हैं, जानिए ऐसा कैसे संभव है. जर्मनी के कोलोन शहर में एक पुरानी फैक्ट्री की बिल्डिंग में वर्चुअल पावर प्लांट बनाया गया है. यह एक ऐसा वर्चुअल पावर प्लांट या बिजली स्टेशन है जहां अलग अलग जगहों में पैदा होने वाली बिजली को नियंत्रित किया जाता है. इस पावर प्लांट के फायदे के बारे में आप जान पाएंगे मंथन में.

रोलर कोस्टर पर खाना

मंथन में आपको ऐसे रेस्तरां में ले जाएंगे जहां खाना परोसने का स्मार्ट तरीका अपनाया जाता है. इस रेस्तरां में वेटर को ऑर्डर देने की जरूरत नहीं और न ही खाना आपको वेटर परोसता है. खाने के ऑर्डर से लेकर टेबल पर आने तक स्मार्ट तकनीक का यहां इस्तेमाल होता है. मंथन में जानिए रोलर कोस्टर वाले रेस्तरां के बारे में और जानिए रेस्तरां के मालिक को कहां से मिला हाईटेक रेस्तरां का आइडिया. साथ ही बात होगी ऑर्गेनिक यानि जैविक खाने की. धीरे धीरे यूरोप में ऑर्गेनिक खाना चलन बनता जा रहा है. जर्मनी में जैविक खाद्य को बढ़ावा देने के लिए क्या किया जा रहा है, मंथन में हम आपको बताएंगे. देखना न भूलें शनिवार सुबह 10.30 बजे डीडी नेशनल पर.

एए/आईबी

संबंधित सामग्री