1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

40 अमेरिकी अरबपतियों ने दान देने की कसम ली

अमेरिका के करीब 40 अरबपतियों ने अपनी संपत्ति से कम से कम पचास फीसदी धन का दान देने का संकल्प लिया है. दुनिया के सबसे अमीरों दो वॉरेन बफेट और बिल गेट्स ने अभियान शुरू किया है.

default

अमेरिका की फोर्ब्स मैगजीन के अनुमान के हिसाब से अरबपतियों की संपत्ति से कम कम डेढ़ सौ अरब डॉलर दान में दिए जा सकते हैं. दान देने के इस अभियान में शामिल होने वाले न्यू यॉर्क के मेयर माइकल ब्लूमबर्ग, मीडिया के बैरी डिलर और टेड टर्नर, ओरेकल के सह संस्थापक लैरी एलिसन, स्टार वॉर फिल्म के निर्माता जॉर्ज लूकास, और ऊर्जा क्षेत्र के शहंशाह टी बूने पिकन्स हैं.

माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स, और निवेशक वॉरेन बफेट सहित अमेरिका के 40 अमीरों ने दान देने के अभियान में शामिल होने की घोषणा की है.

जून में आगाज

जून में इस अभियान की शुरुआत की गई थी, उस समय बफेट, गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा ने अमेरिका के 70-80 अरबपतियों से अपनी कमाई का बीस फीसदी हिस्सा दान में देने की मांग की थी. बफेट ने कहा, "कई मामलों में हमारे पास ये मानने का कारण था कि लोगों का दान में विश्वास है. ये बहुत धीमी आवाज में शुरू किया गया था लेकिन फिर भी 40 लोग इसमें शामिल हुए. हमें उम्मीद है कि ये 40 लोग बाहर जाएंगे और लोगों को साथ जोड़ेगे."

USA Warren Buffet

इस अभियान में अमेरिकी अरबपतियों से अपील की गई है कि वे अपने जीवन में या मृत्यु के बाद अपनी संपत्ति का कम से कम आधा हिस्सा दान में दें और इस बारे में सार्वजनिक तौर पर एलान करें.

गेट्स की संपत्ति कुल 53 अरब डॉलर की है जिसके कारण वे फोर्ब्स पत्रिका में अमीरों की सूची में दूसरे सबसे अमीर हैं. जबकि बफेट 47 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ तीसरे नंबर हैं.

ऊर्जा क्षेत्र के शहंशाह पिकन्स कहते हैं, "मैं बहुत पहले कह चुका हूं कि मुझे पैसा बनाने में मजा आता है लेकिन देने भी उतना ही आनंद आता है. मैं पैतृक संपत्ति का फैन नहीं हूं. इससे अधिकतर फायदे की बजाए नुकसान ही होता है."

चीन और भारत के अमीरों से भी बफेट और गेट्स मिलना चाहते हैं. वे उम्मीद करते हैं कि दूसरे देशों में भी दान देने की भावना जागेगी.

फोर्ब्स पत्रिका के हिसाब से अमेरिका में दुनिया के सबसे ज्यादा 403 अरबपति रहते हैं. इंडियाना युनिवर्सिटी का कहना है कि 2009 में अमेरिकी जनता ने 227 अरब डॉलर एकत्र कर दान में दिए. न्यू यॉर्क के मेयर ब्लूमबर्ग का कहना है, "मैं हमेशा सोचता हूं कि सबसे अच्छी बात होगी कि उन्हें पैसे देने की बजाए, हम अपनी आने वाली पीढ़ियों के लिए ये दुनिया अच्छी बना सकें. आपकी इच्छा से ज्यादा आपके दान से आपके बच्चों को फायदा होगा."

टैक्स के लिए नहीं

बफेट का कहना है कि गिविंग प्लेज के किसी भी सदस्य ने टैक्स में कटौती के लिए दान देने की बात नहीं की. जिसके भी करों में कमी हो सकती है वो करता है लेकिन दान देने की प्रेरणा सिर्फ कर में कटौती के कारण नहीं है.

वॉरेन बफेट ने 2006 में कसम खाई कि वो अपनी 99 फीसदी संपत्ति बिल और मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन और फेमिली चैरिटी को दान में दे देंगे. बिल और मेलिंडा अपने फाउंडेशन के लिए 28 अरब डॉलर दे ही चुके हैं.

रिपोर्टः रॉयटर्स/आभा एम

संपादनः एस गौड़

DW.COM

WWW-Links