1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

36 साल तक कोख में रहा बच्चा

नागपुर में डॉक्टरों ने एक महिला की कोख से बच्चे का कंकाल निकाला है. 60 साल की इस महिला ने 36 साल पहले गर्भधारण किया था. वह पेट में दर्द की शिकायत ले कर डॉक्टर के पास गयी.

महिला के कई टेस्ट हुए पर डॉक्टर दर्द की वजह समझ नहीं पा रहे थे. आखिरकार स्कैन किया गया और डॉक्टरों को महिला के पेट के ऊपरी हिस्से में एक गांठ का पता चला. शुरुआत में उन्हें लगा कि मामला कैंसर का है. लेकिन जब और बारीकी में गए तो समझ आया कि बात कुछ और ही है.

डॉक्टर मुर्तजा अख्तर, जिन्होंने महिला का ऑपरेशन किया, बताती हैं कि 24 साल की उम्र में ही इस महिला का गर्भपात हो गया था, "उन्होंने हमें बताया कि 1974 में उन्होंने गर्भधारण किया. यह ऐसा मामला है जिसमें भ्रूण गर्भाशय में ना हो कर, उसके बाहर विकसित होने लगता है." गर्भाशय की नाल में होने के कारण भ्रूण का विकास रुक गया. हालांकि गर्भपात के दौरान डॉक्टर भ्रूण को मां के शरीर से निकाल देते हैं लेकिन इस मामले में उसके अंश अंदर ही रह गए.

DW.COM

डॉक्टर मुर्तजा अख्तर बताती हैं, "जब हमने स्कैन की रिपोर्ट देखी तो हम सकते में आ गए. हम एक दूसरे से पूछ रहे थे कि आखिर हमारे सामने यह है क्या. वह एक भ्रूण का कंकाल था." आस पास एक थैली सी बन जाने के कारण कंकाल इतने सालों तक सुरक्षित रहा.

क्योंकि डॉक्टर कभी इस तरह के मामले से नहीं निपटे थे, इसलिए उन्होंने किताबों में इसका हल ढूंढने की कोशिश की. रिसर्च के दौरान उन्हें पता चला कि बेल्जियम में एक महिला की कोख में 18 साल तक भ्रूण रहा. यह सबसे अधिक अवधि थी. इसके बाद डॉक्टरों ने ऑपरेशन किया और गर्भाशय, मूत्राशय और आंतों के बीच बन चुकी थैली को हटाया.

ऑपरेशन के बाद जब महिला को इस बारे में विस्तार से बताया गया तो वह बहुत हैरान हुई. डॉक्टर अख्तर ने बताया, "वह सदमे में आ गयी थी लेकिन अब वह ठीक है. वैसे भी यह एक अनोखा मामला है और इस पर विश्वास करना वाकई बहुत मुश्किल है."

आईबी/एमजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री