1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

30 सेकंड का अद्भुत फुटबॉल

पुर्तगाल की टीम बस वर्ल्ड कप से रुखसत होने ही वाली थी. आधा मिनट बचा था और रेफरी ने सीटी मुंह में फंसा ली थी. तभी क्रिस्टियानो रोनाल्डो के एक करिश्माई पास ने सब कुछ बदल दिया.

अमेरिका के खिलाफ ग्रुप मैच में रोनाल्डो के इस पास पर वरेला ने सिर अड़ा दिया और गेंद जाल में जा लिपटी. स्कोर 2-2 से बराबर हुआ और पुर्तगाल का वर्ल्ड कप का सपना बचा रह गया. लगभग 20 मिनट तक एक गोल से पीछे चल रही पुर्तगाली टीम को मानो मरते मरते ऑक्सीजन मिल गया. इस मैच में हार के साथ ही पुर्तगाल को अपने पुराने उपनिवेश ब्राजील से विदा होना पड़ता और लिस्बन का टिकट कटाना पड़ता. लेकिन अब उन्होंने अपनी आशा कम से कम पांच दिनों के लिए आगे खींच दी है.

बाएं घुटने में चोट के बावजूद टीम के लिए खेल रहे विंगर रोनाल्डो का इस विश्व कप में पूरा जलवा तो नहीं दिख रहा है लेकिन बीच बीच में रॉकेट की रफ्तार से स्टेडियम सन्न जरूर हो जाता है. अमेरिका के खिलाफ भी कप्तान रोनाल्डो ने कुछ ऐसा ही किया. जब अतिरिक्त पांच मिनट के साढ़े चार मिनट पार हो चुके थे, रोनाल्डो ने दाहिने कोने से इतना अचूक पास दिया, जिसमें वरेला को सिर्फ अपना सिर अड़ाना था. उन्होंने ऐसा कर दिया और अमेरिकी गोलकीपर टिम हॉवर्ड खड़े के खड़े रह गए. बराबरी का गोल हो गया और अमेरिका का फौरी तौर पर अगले राउंड में जाने का रास्ता रुक गया.

WM 2014 Gruppe G 2. Spieltag USA - Portugal

अमेरिका के शानदार कीपर टिम हॉवर्ड

हॉवर्ड ने कहा, "उसने एक शानदार क्रॉस दिया. फुटबॉल कभी कभी क्रूर होता है." कभी हॉवर्ड और रोनाल्डो इंग्लैंड में एक ही टीम मैनचेस्टर यूनाइटेड से खेलते थे. इस ड्रॉ के बाद अमेरिका के चार अंक हैं और इस ग्रुप में जर्मनी के भी इतने ही अंक हैं. घाना और पुर्तगाल 1-1 अंक के साथ तीसरे और चौथे नंबर पर है. गुरुवार को पुर्तगाल को घाना से और जर्मनी को अमेरिका से भिड़ना है. दोनों मुकाबले एक ही समय खेले जाएंगे और उनके नतीजों के बाद ही पता चल पाएगा कि इस ग्रुप से किन दो टीमों को आखिरी 16 में जगह मिलेगी. फिलहाल चारों टीमों की उम्मीद बची हुई है.

आखिरी लम्हों में हुए गोल से अमेरिकी गोलकीपर क्लिंट डेंपसी निराश हैं लेकिन इस बात से खुश हैं कि उनकी टीम को एक अंक मिल गया, "अब मामला आखिरी मैच में चला गया और हम चाहेंगे कि हम अपना काम कर दिखाएं."

मैच का पहला गोल पुर्तगाल के नानी ने पांचवें मिनट में ही कर दिया था, जिसके बाद अमेरिका के जरमेन जोन्स को बराबरी करने में 64 मिनट लग गए. पर इसके कुछ ही मिनटों बाद कप्तान डेंपसी ने एक और गोल करके पुर्तगाल को सन्न कर दिया.

आखिरी लम्हों में हुए गोल के बाद अमेरिका और जर्मनी के बीच का मुकाबला दिलचस्प हो गया है. खास तौर पर अमेरिकी कोच युर्गन क्लिंसमन के लिए, जो जर्मनी के लिए वर्ल्ड कप जीत चुके हैं, "अब हमें जर्मनी को हराना होगा. हमें ऐसा ही करना होगा."

भले ही रोनाल्डो की मदद से हुए गोल ने अमेरिका का खेल खराब कर दिया हो लेकिन कोच क्लिंसमन कहते हैं कि "इस मैच को लंबे वक्त तक याद किया जाएगा."

एजेए/एमजे (एपी, एएफपी, डीपीए)