26/11 पर उदास रहा बॉलीवुड | मनोरंजन | DW | 27.11.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

26/11 पर उदास रहा बॉलीवुड

शुक्रवार को मुंबई उदास थी. 26 नवंबर की यह तारीख उसके दिल पर आए उस जख्म की याद दिला रही थी जिसे दो साल पूरे हो गए. इस मौके पर माया नगरी का मायावी बॉलीवुड भी उदास नजर आया.

default

भारत के फिल्मी सितारों ने भी अपने अपने तरीके से 26/11 को याद किया और मारे गए लोगों को श्रद्धांजलि दी. इस मौके पर सुपरस्टार अमिताभ बच्चन ने दो साल पहले गुजरे उन दर्दनाक 60 घंटों को याद किया. साथ वह मुंबई पुलिस और सेना के उन जवानों को भी याद करना नहीं भूले जिन्होंने इस आतंकवादी हमले का डटकर मुकाबला किया.

Sonam Kapoor

अमिताभ बच्चन ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, "आज 26/11 है. उन भयानक दृश्यों का डर, हमारे वर्दीवाले जवानों की बहादुरी पर गर्व और उन जिंदगियों के लिए दिल से प्रार्थना जो उस दिन हमने खो दीं...दिल की पूरी गहराई से प्रार्थना."

अमिताभ बच्चन के बेटे अभिषेक ने भी अपने पापा के सुर में सुर मिलाया और कहा कि उनकी प्रार्थनाएं उन सबके लिए हैं जिन्होंने इस दिन अपनों को खोया. अभिषेक ने लिखा, "हम उन्हें कभी नहीं भूलेंगे." एक्टर अनुपम खेर ने भी प्रार्थना की और साथ ही आतंकवादी कसाब का जिक्र भी किया. उन्होंने ट्विटर पर कहा, "26/11 के हादसे को दो साल पूरे हो गए हैं और हम आज भी कसाब के भाग्य पर बहस कर रहे हैं. हमले में मारे गए लोगों और उनके परिवारवालों के लिए मेरी खामोश प्रार्थना."

Bollywoodschauspieler Anupam Kher

मेलोडी क्वीन लता मंगेशकर ने भी अपने दिल की बात जाहिर करने के लिए ट्विटर का ही सहारा लिया. उन्होंने कहा, ""मैं सभी भारतीयों की तरफ से शहीदों को सलाम करती हूं."

एक्टर राहुल बोस ने अपनों को खोने वालों के प्रति सहानुभूति जाहिर की और इसी बात को आगे बढ़ाते हुए आर माधवन ने लिखा कि जो चले गए वे हमेशा याद आएंगे.

लेकिन फिल्मकार रामगोपाल वर्मा का अंदाज कुछ अलग था. उन्होंने कहा, "सभी लोग 26/11 के पीड़ितों के लिए प्रार्थना कर रहे हैं और ईश्वर से दुआ मांग रहे हैं कि वह पीड़ितों का साथ दे. उन सबसे मेरा एक सवाल है. ईश्वर ने यह सब होने ही क्यों दिया? हम कभी नहीं भूल सकते कि हम कभी भी मर सकते हैं."

एक्ट्रेस गुल पनाग ने कुछ गंभीर सवालों के साथ 26/11 को याद किया. उन्होंने कहा, "दो साल बीत गए. अब भी मुझे नहीं पता कि कुछ बदला है या नहीं. क्या सुरक्षा बस एक भ्रम है?"

ट्विटर पर प्रार्थनाओं के इस सिलसिले में फिल्मकार मधुर भंडारकर, अदाकारा सोनम कपूर और प्रीति जिंटा भी शामिल हुईं. प्रीति जिंटा ने लिखा, "किसी याद की धुन जब दिल के भीतर बजती है तो दीवारों से टकराकर जो सदा आती है वह कितनी क्रूर होती है."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए जमाल

DW.COM

WWW-Links