1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

250 से ज्यादा रन अच्छे रहेंगेः लक्ष्मण

वीवीएस लक्ष्मण का कहना है कि भारत की पहली पारी में ढाई सौ से ज्यादा रन भारत के लिए ठीक रहेंगे और तब वह दक्षिण अफ्रीका को ठीक से बांध सकेगा. दूसरे टेस्ट में भारत की हालत खराब है 6 विकेट पर 183 रन ही बने हैं.

default

लक्ष्मण ने कहा, "अगर हालात पहले दिन जैसे ही रहते हैं को भारत के लिए 250 रनों से ज्यादा का स्कोर ठीक रहेगा. यह बहुत अच्छा होता अगर मैं और राहुल साझेदारी में और टिक जाते तो दक्षिण अफ्रीका पर दबाव बढ़ जाता. दूसरे दिन हम कैसे शुरू करते हैं इस पर काफी कुछ निर्भर रहेगा."

रविवार को दक्षिण अफ्रीका और भारत के बीच शुरू हुए दूसरे टेस्ट में सबसे ज्यादा 32 रन बनाने वाले लक्ष्मण ही थे.

लक्ष्मण मानते हैं कि डरबन का विकेट तेज है और इसमें सेंचुरियन की तुलना में उछाल भी ज्यादा है. सेंचुरियन में दूसरे दिन की धूप के कारण विकेट में बिलकुल उछाल नहीं बची. "मुझे लगता है कि अगर हम दोनों में से एक बना रहता और 70 के करीब रन बना लेता तो ठीक रहता. मध्यक्रम और आखिरी बल्लेबाजों से हमें अच्छे आक्रमण की उम्मीद है. उन्होंने काफी मेहनत की है. हरभजन सिंह की बैटिंग में बहुत सुधार हुआ है. उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ अच्छे रन बनाए और हमें टिकाए रखा. इस विकेट पर धैर्य बनाए रखना बहुत जरूरी है."

Cricketspieler Rahul Dravid

रविवार को भी भारत टॉस हार गया. लेकिन लक्ष्मण इससे दुखी नहीं हैं लेकिन वह कहते हैं कि अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटरों को ऐसी स्थिति के लिए तैयार रहना चाहिए. "जब आप अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेल रहे हैं तो जो भी चुनौतियां आएं उनके लिए तैयार रहना चाहिए. टॉस की भविष्यवाणी नहीं की जा सकती. आपके हाथ में नहीं होता. इस विकेट पर गेंदबाजी करना एक शानदार अनुभव होता."

लक्ष्मण स्टेन और मोर्कल की तारीफ करते नहीं थकते. "मैंने जिन गेंदबाजों को खेला है उनमें स्टेन और मोर्कल सबसे अच्छे हैं. उनकी तेज गेंदें बहुत बढ़िया हैं जो दक्षिण अफ्रीकी टीम को फायदा पहुंचा रही हैं." स्टेन ने 36 रन देकर भारत से चार विकेट झटक लिए. लक्ष्मण ने एक छक्के और चौके की मदद से स्टेन से 13 रन छीने और भारत को 100 के पार पहुंचाया

हालांकि भारतीय बल्लेबाजों के कुछ अच्छे शॉट्स खेले लेकिन पिच बल्लेबाजों के लिए मुश्किल थी. तीसरे विकेट के तौर पर स्टेन ने द्रविड़ को पवेलियन भेजा. टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों के आउट हो जाने के बाद अब पूरी जिम्मेदारी धोनी और भज्जी पर है. पुछल्ले बल्लेबाजों को अब नैया पार लगानी है.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः एन रंजन

DW.COM