1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

2जी पर कपिल सिब्बल और सीएजी आमने सामने

2जी स्पेक्ट्रम के घोटाले में कितने पैसे का हेरफेर हुआ, इसे लेकर अब टेलीकॉम मंत्रालय और महालेखापरीक्षक (सीएजी) में ठन गई है. सीएजी ने कहा है कि उसने घाटे का जो अंदाज लगाया है वह बिल्कुल सही है.

default

टेलीकॉम मंत्री कपिल सिब्बल ने बीते हफ्ते कहा था कि 2जी स्पेक्ट्रम में सरकार को उतना घाटा नहीं हुआ जितना सीएजी कह रहा है. लेकिन सीएजी ने कहा है कि उसका आंकड़ा बिल्कुल सही है.

सीएजी ने पिछले साल संसद को अपनी रिपोर्ट सौंपी थी जिसमें कहा गया था कि 2जी स्पेक्ट्र के आवंटन में सरकार को एक लाख 76 हजार करोड़ रुपये का नुकसान हुआ. सीएजी प्रवक्ता ने सोमवार को पत्रकारों से कहा, "सीएजी अपनी रिपोर्ट पर कायम है और इसका अनुमान 100 फीसदी सही है."

सरकार के ही दो हिस्सों के बीच मतभेद से मामला खासा उलझ गया है. सोमवार को सुप्रीम कोर्ट ने भी इस बात को लेकर हैरानी जाहिर की कि कपिल सिब्बल सीएजी के बयान को खारिज कैसे कर सकते हैं. सीएजी की रिपोर्ट के आधार पर ही केंद्रीय विजिलेंस कमिशन ने सीबीआई से मामला दर्ज कर जांच करने को कहा है. लेकिन कपिल सिब्बल ने तो यहां तक कह दिया कि सरकार को कोई नुकसान हुआ ही नहीं. जबकि इसी घोटाले की वजह से पूर्व मंत्री ए राजा को इस्तीफा देना पड़ा. सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार को ही 11 कंपनियों और केंद्र सरकार को नोटिस जारी किया है. सुप्रीम कोर्ट में इस याचिका पर सुनवाई हो रही है कि 2जी स्पेक्ट्रम पाने वाली सभी 122 कंपनियों के लाइसेंस रद्द कर दिए जाएं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links