1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

19 दिन बाद मिला घायल शिकारी

कैलिफोर्निया के बियाबान जंगलों में भटका एक बूढ़ा शिकारी 19 दिनों तक गिलहरियों, छिपकलियों को खाकर और पत्तों की चादर ओढ़ कर बचा रहा. 72 साल के जीन पेनाफ्लोर अपने साथियों से बिछड़ गए थे.

सैन फ्रांसिस्को के जीन पेनाफ्लोर की शनिवार को दूसरे शिकारियों से मुलाकात हुई, जो उन्हें सुरक्षित ठिकाने पर ले गए. पेनाफ्लोर शिकार के दौरान 24 सितंबर को अपने साथी के पास दोपहर के खाने पर नहीं पहुंचे. दोनों कई घंटों से हिरण के शिकार की कोशिश में थे और इसी दौरान अलग हो गए. इसी बीच पेनाफ्लोर गिर गए और उनके सिर में चोट लगी. बाद में उन्होंने जांचकर्ताओं को बताया कि जब उनकी बेहोशी टूटी तो वह गहरे कुहासे के बीच थे और उन्हें दिशा का पता नहीं चल रहा था. वह कुछ देर तक चलते रहे लेकिन जब उन्हें यह पता नहीं चल कि वो कहां हैं तो फिर रुक गए.

मेंडोसिनो काउंटी के शेरिफ के दफ्तर ने पेनाफ्लोर के बारे में बयान जारी कर जानकारी दी है. अधिकारियों ने पेनाफ्लोर के बारे में बताया है कि उन्होंने पानी के एक सोते के पास रात बिताने की सोची. अगले दो दिनों में उन्हें एक हैलीकॉप्टर भी दिखा और उन्होंने धुएं के जरिए संकेत देने के कीशिश की लेकिन उन्हें किसी ने नहीं देखा. उन्होंने बताया कि इस दौरान वह गिलहरियों, छिपकलियों, एक सांप, और बेरियां खा कर जिंदा रहे. बारिश और बर्फ के बीच खुद को सूखा और गर्म रखने के लिए वह पत्तों और घास के विशाल ढेर के अंदर छिपते रहे.

Bildergalerie Deutschland - Herbstwald im Nebel

गिरे पत्तों में ढूंढी गर्मी

पेनाफ्लोर को एक हिरण भी दिखा लेकिन उनके पास इतनी ऊर्जा नहीं बची थी कि वह उसे शूट करते. एक समय पेनाफ्लोर को लगा कि वह मरने जा रहे हैं लेकिन उन्होंने सोचा कि जितना खींच सकते हैं खींचें. शेरिफ के दफ्तर ने बताया कि उनकी खोज के लिए शुरू हुआ प्राथमिक अभियान रोक दिया गया. इस अभियान में कई एजेंसियां शामिल थीं लेकिन आंधी आ गई थी और पेनाफ्लोर का कोई निशान नहीं मिल रहा था.

शनिवार को खोज अभियान फिर शुरू किया गया. इसी बीच शिकारियों के एक दल ने घाटी से मदद के लिए पुकार सुनी और पेनाफ्लोर के पास पहुंच गया. पेनाफ्लोर जहां से गायब हुए थे वहां से करीब साढ़े चार किलोमीटर दूर मिले. पेनाफ्लोर के बेटे जेरेमी ने स्थानीय अखबार को बताया कि उनके पिता को हवाई जहाज से यूकिया वैली मेडिकल सेंटर पहुंचाया गया है और वो अच्छी हालत में हैं. उनके गायब होने की खबर आने के बाद पेनाफ्लोर का परिवार शिकार कैंप के पास के ही आ कर रहा रहा. उनके बेटे ने कहा, "मुझे यकीन था कि मेरे पिता जिंदा हैं. जितनी जानकारी उनके पास है और जितना वो जानते हैं कि क्या करना चाहिए उसके कारण 14 दिन तो उनके लिए कुछ नहीं. मेरा ख्याल है कि 14 दिनों के बाद मैं परेशान हो जाता."

एनआर/एएम (एपी)