1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

5 डॉलर की मशीन से 13 साल की बच्ची ने जीते 25 हजार

भारतीय मूल की 13 साल की एक बच्ची को अमेरिका का टॉप यंग साइंटिस्ट चुना गया है. मानसा मेंडू नाम की इस बच्ची ने बिजली बनाने वाली मशीन बनाई.

Kunstaustellung Libero von Ai Weiwei im Palazzo Strozzi (Courtesy of Ai Weiwei Studio)

प्रतीकात्मक फोटो

13 साल की एक अमेरिकी छात्रा ने सिर्फ 5 डॉलर में बिजली बनाने वाली डिवाइस बनाकर 25 हजार डॉलर का इनाम जीता है. 2016 के डिस्कवरी एजुकेशन 3एम यंग साइंटिस्ट चैलेंज में ओहायो की रहने वालीं मानसा मेंडू को पहला पुरस्कार मिला है.

भारतीय मूल की मेंडू ने एक ऐसी मशीन बनाई है जो धूप और हवा से बिजली बना सकती है. यह मशीन बहुत सस्ती है. ओहायो के विलियम मेसन हाई स्कूल में नौवीं क्लास में पढ़ने वाली मेंडु ने कहा कि उन्हें इस मशीन को बनाने की प्रेरणा तब मिली जब वह अपने माता पिता के साथ भारत गई थीं. मेंडू ने बीबीसी से बातचीत में कहा, "वहां मैंने देखा कि घंटों तक बिजली नहीं आती है. बिजली नहीं है, पानी नहीं है. यह सब मेरे लिए बहुत असामान्य बात थी लेकिन करोड़ों लोग इसी तरह के हालात में जी रहे हैं. मैं कुछ ऐसा बनाना चाहती थी जो उन लोगों के काम आ सके."

ये मजेदार आविष्कार तो देखिए

मेंडू ने पहले जो विचार बनाया था वह बस वायु ऊर्जा से बिजली बनाने का था जिसका खर्च बिजनेस इनसाइडर के मुताबिक लगभग पांच डॉलर था. लेकिन तीन महीने के दौरान प्रोडक्ट डेवलपमेंट इंजीनियर मार्गो मितेरा के साथ काम किया. उनका प्रोजेक्ट पौधों की कार्यप्रणाली से प्रेरित था. तब उन्होंने सोचा कि क्यों ना मशीन में सोलर पत्ते लगा दिए जाएं जो कंपन से ऊर्जा लें और बिजली बनाएं. अब उनकी मशीन हवा, बारिश और धूप से बिजली बना सकती है.

इस मशीन के लिए मेंडू को अमेरिकाज टॉप यंग साइंटिस्ट अवॉर्ड और 25 हजार डॉलर मिले हैं.

देखिए, जर्मन बच्चों ने क्या शानदार चीजें बनाई हैं

DW.COM