1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

फीडबैक

होम्योपैथी का पहला विश्वविद्यालय

अपने विचार और कार्यक्रमों के बारे में टिप्पणी हमें लोग लिख भेजते हैं. कुछ टीवी कार्यक्रम मंथन के बारे में तो कुछ अपने पसंदीदा विषय लिख भेजते हैं कि हम उन्हें अपनी वेबसाइट और टीवी कार्यक्रम में दिखाएं.

सभी टीवी चैनलों को पर्यावरण, सौर ऊर्जा, स्वच्छ भारत, सामाजिक जागरूकता, शिक्षा, उद्योग और आम लोगों के जीवन की समस्याओं से संबंधित कार्यक्रमों को शुरू करना चाहिए. भारत के लोग रोज रोज टीवी पर दिखाई जाने वाली राजनीतिक बहसों को देख देख कर बोर हो गए हैं. रोज रोज वही गिने चुने लोग तमाम ऐसे राजनीतिक मुद्दों पर वाद विवाद करते हैं जो या तो आम आदमी की समझ में नहीं आते या उनसे संबंधित नहीं होते. इससे समय की बर्बादी होती है... सुधीर गुप्ता

---

वेद प्रकाश मिश्रा लिखते हैं कि जर्मनी होम्योपैथी का भी केन्द्र रहा है. अपने पोस्ट में इस विषय से जुड़ी खोजों, नये प्रयोगों के बारे में भी यदा कदा ज्ञान साझा करें तो उपकार होगा..

- वेद प्रकाशजी, इस विषय पर हम समय समय पर अपनी वेबसाइट पर जानकारी देते आएं हैं. होम्योपैथी दवाएं भारत में बहुत लोकप्रिय हैं. इसकी खोज जर्मनी के क्रिस्टियान फ्रीडरिष सामुएल हानेमान ने की थी. दुनिया भर से इस विधा के चिकित्सक दवाइयों और सामुएल हानेमान के बारे में जानकारी लेने के लिए जर्मनी आते हैं. और जानकारी के लिए http://dw.de/p/18zqh. 2011 में दुनिया का पहला होम्योपैथी विश्वविद्यालय जयपुर में बना है, इस पर भी जानकारी मिलेगी आपको यहां http://dw.de/p/10nrx.

---

दीपावली के शुभ अवसर पर डीडब्ल्यू हिन्दी परिवार के सभी सदस्यों को शुभकामनाएं. दीपावली का अर्थ है दीपों की पंक्ति. दीपावली शब्द दीप एवं आवली की संधि से बना है. आवली अर्थात पंक्ति, अंधकार पर प्रकाश की विजय का यह पर्व समाज में उल्लास, भाईचारे व प्रेम का संदेश फैलाता है. यह पर्व सामूहिक और व्यक्तिगत दोनों तरह से मनाए जाने वाला ऐसा विशिष्ट पर्व हैं जो धार्मिक, सांस्कृतिक व सामाजिक विशिष्टता रखता है. आइये सभी मिलकर दीपावली का आनंद ले..बिधान चंद्र सान्याल, जिला दक्षिण दिनाजपुर पश्चिम बंगाल

---

पंकज पटेल पूछते हैं कि यदि किसी व्यक्ति को एड्स है और अगर कोई मच्छर उसका रक्त चूसकर दूसरे व्यक्ति में डाल देगा तो क्या होगा?

- पंकजजी सवाल आपका बहुत अच्छा है. लेकिन एड्स मच्छर के जरिए नहीं फैलता लेकिन संक्रमित व्यक्ति को लगी सुई को लगाने या संक्रमित खून चढ़ाने से हो सकता है. एड्स खून, मां के दूध और सेक्स के दौरान वीर्य से संक्रमित होता है. दुनिया भर के डॉक्टर तीन दशक से इस वायरस यानी एचआईवी के बारे में जानकारी जुटा रहे हैं. एड्स पर आपको हमारी वेबसाइट पर काफी जानकारियां मिलेगी. जैसे कि देखें यहां http://dw.de/p/1Ce8n . हमारी वेबसाइट dw.de/hindi पर खोज में जा कर आप रिपोर्टें पढ़ सकते हैं. कल मंथन कार्यक्रम में भी आपको एचआईवी इंफेक्शन के बारे बताया जाएगा, देखिए मंथन शनिवार सुबह 10.30 बजे दूरदर्शन डीडी1 पर.

---

संकलनः विनोद चड्ढा

संपादनः आभा मोंढे

DW.COM