1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

हैम्बर्ग बेहतर तो बायर्न टॉप पर

कोच बैर्ट फान मारवाइक की देखरेख में हैम्बर्ग लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है. रविवार को टीम ने स्टुटगार्ट से मुकाबला 3-3 पर ड्रॉ किया. फेंटम गोल ने बुंडेसलीगा के अधिकारियों को हैरान कर दिया.

फेंटम गोल नाम से मशहूर हुए इस गोल में, गेंद सामने से गोल में नहीं गई बल्कि साइड में एक छेद से होती हुई गोल में चली गई. हाफ टाइम में रेफरी ने गोल चेक किया, उस दौरान उन्हें यह छेद नहीं दिखाई दिया. श्टेफान कीसलिंग ने 70 वें मिनट में यह गोल किया था. इसी विवादित गोल के कारण बायर लेवरकूजन शुक्रवार को हॉफेनहाइम से जीत गया. जर्मन फुटबॉल फेडरेशन सोमवार को इस गोल की जांच करेगी. इस बीच हॉफेनहाइम ने मुकाबला दोबारा से कराने की मांग की है.

हैम्बर्ग का ड्रॉ

हॉलैंड के पूर्व कोच फान मारवाइक ने इसी साल सितंबर में हैम्बर्ग की जिम्मेदारी संभाली. उनके पहले कोच रहे थॉर्स्टेन फिंक को सत्र की बेहद खराब शुरूआत के कारण बाहर का रास्ता दिखा दिया गया था. हैम्बर्ग के कप्तान राफाएल फान डेयर फार्ट ने मेजबान टीम के लिए 67वें मिनट में गोल कर मुकाबले को बराबरी पर ला दिया. श्टुटगार्ट ने आखिरी के छह मिनट केवल 10 खिलाड़ियों के साथ ही खेले क्योंकि सेंटर बैक अंटोनियो रुडिगर को मिडफील्डर फान डेयर फार्ट को कोहनी मारने के कारण सीधे रेड कार्ड दे दिया गया.

हैम्बर्ग के डिफेंडर योहान जुरू ने अपने ही गोल में गेंद डाल कर टीम को 3-2 से पीछे धकेल दिया था. कोच फान मारवाइक ने खेल खत्म होने के बाद कहा, "हम फिर बेहतर हुए हैं और उस तरह से फुटबॉल खेल रहे हैं जैसे मैं पसंद करता हूं. हमने कुछ बेहद अच्छे हमले किए जिससे मुझे खुशी हुई. अपनी ओर ही गोल करके हम थोड़े दुर्भाग्यशाली भी रहे."

अविजित बायर्न

शनिवार को बायर्न म्यूनिख ने भी बुंडेसलीगा में लगातार अविजित रहने का अपना आंकड़ा 34 मुकाबलों तक पहुंचा लिया. माइंस को 4-1 से शिकस्त दे कर टीम एक बार फिर शीर्ष पर है. जर्मन लीग में आखिरी हार बायर्न म्यूनिख ने अक्टूबर 2012 में देखी थी और अब वो हैम्बर्ग के 30 साल पुराने 36 मैचों तक लगातार अविजित रहने के रिकॉर्ड से महज 2 गोल दूर है.

म्यूनिख में बायर्न को पहले हाफ खराब खेल की सजा मिली, माइंस के स्ट्राइकर शॉन पार्कर ने सेंटर बैक जीरोम बोएटांग की गलती का फायदा उठा कर गोल दाग दिया. हालांकि इसके बाद मारियो गोएत्जे के साथ घायल शेर की तरह वापस लौटे बायर्न ने विरोधियों को दम लेने का मौका नहीं दिया. मारियो की मदद ने खेल के दूसरे आधे हिस्से में तीन गोल करवाए. आर्येन रॉबेन को मिले शानदार पास ने 50वें मिनट में मुकाबला बराबरी पर पहुंचा दिया और फिर थॉमस मुइलर के साथ मिल कर गोएत्जे ने दूसरा गोल करवाया. अब तक हाल यह हो गया था कि गेंद 80 फीसदी वक्त तक बायर्न के ही पास रह रही थी. बायर्न ने इसका फायदा उठाया और गोएत्जे से मिले पास को मारियो मांजुकिच ने 69वें मिनट में गोल में बदल कर स्कोर 3-1 कर दिया. मैच खत्म होने से ठीक 8 मिनट पहले मुइलर एक बार फिर चमके और बायर्न को एक और गोल मिला.

बुंडसलीगा की अंक तालिका में बोरोसिया डॉर्टमुंड दूसरे नंबर पर है जबकि लेवरकूजन तीसरे नंबर पर. उधर नीचे से दूसरे नंबर पर रहे फ्राबुर्ग ने वेर्डर ब्रेमेन के साथ बिना गोल का ड्रॉ खेल कर अपनी स्थिति थोड़ी बेहतर की है.

एनआर/एएम (एएफपी)

DW.COM