1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

हैमिल्टन को क्यों अफसोस

तकलीफ हो, चिंता हो या गुस्सा, एक रात सोइए, सुबह दुनिया बदली नजर आती है. जापान में एक रात बाद लुइस हैमिल्टन भी बदल गए हैं, उन्हें अब सेबास्टियान फेटल के बारे में दक्षिण कोरिया में कही गई बातों पर अचानक शर्म आने लगी है.

पूरे अफसोस के साथ हैमिल्टन ने अब ट्विटर पर दुनिया को संदेश भेजा है और उसमें उन्होंने फॉर्मूला वन चैंपियन की तारीफ के पुल बांध दिए हैं, जबकि दो दिन पहले उन्होंने फर्राटा रेस में फेटल के वर्चस्व को नींद की गोली बताया था. अपने 17 लाख प्रशंसकों के किए गए ट्वीट में हैमिल्टन ने लिखा है, "वे एक अद्भुत इंसान हैं, मजाकिया और विनम्र. वे हर कामयाबी के हकदार हैं." फेटल इसी रविवार को लगातार चौथी बार फॉर्मूला रेस जीत सकते हैं और ब्रिटेन के हैमिल्टन इस मौके पर खराब हारने वाला साबित नहीं होना चाहते थे.

दक्षिण कोरिया के ग्रां प्री के बाद हालत बिल्कुल अलग थी. हैमिल्टन ने इंटरव्यू में बार बार कहा कि फेटल नहीं बल्कि दूसरे नंबर पर चल रहे फर्नांडो अलोंसो "सबसे तेज" हैं. उन्होंने फेटल की रेड बुल टीम पर पहले नंबर पर चल रहे फेटेल की गाड़ी के साथ छेड़खानी के आरोप लगाए. इस सीजन में जर्मन ड्राइवर की आठवीं जीत के बारे में हैमिल्टन ने टिप्पणी की कि फेटल का वर्चस्व सुलाने वाला है. रेड बुल के टीम प्रमुख क्रिस्टियान होर्नर ने तुरंत जवाब दिया, "जीत कभी बोरिंग नहीं होती."

जापान के सुजूका में हो रहे सीजन के 15वें रेस में भाग लेने जाते हुए 28 वर्षीय हैमिल्टन अपनी टिप्पणी पर हुई प्रतिक्रिया से दंग रह गए. ब्रिटिश अखबारों में छपी रिपोर्टों को पढ़ने के बाद हैरान हैमिल्टन ने अपने सेलफोन के जरिए जल्दी से ट्वीट किया, "मैं अपनी सोच को स्पष्ट करने की जरूरत महसूस कर रहा हूं, सेबास्टियान जबरदस्त चैंपियन है." वैसे इसमें कोई हैरानी नहीं कि फेटल हैमिल्टन के लिए कड़े प्रतिद्वंद्वी रहे हैं. 2010 में फेटल ने दुनिया के सबसे कम उम्र फॉर्मूला चैंपियन हैमिल्टन को तख्त से हटा कर चैंपियनशिप जीती थी और तब से वे हैमिल्टन को सुर्खियों में आने ही नहीं दे रहे.

सेबास्टियान फेटल, मूडी लुइस हैमिल्टन के एकदम विपरीत हैं. एक मशीन, मैकेनिक और इंजीनियरों के साथ देर शाम तक समय गुजारने वाला, बीटल्स का प्रेमी और अपनी पार्टनर के साथ स्विट्जरलैंड में चमक दमक से दूर रहने वाला तो दूसरा अपनी अपार प्रतिभा पर निर्भर, गैंगस्टा रैपर और पॉपस्टार निकोल शैरत्सिंगर के साथ चमक दमक के बीच उतार चढ़ाव की जिंदगी बिताने वाला. हैमिल्टन को फेटल का समर्पण और नियमित रूप से गलती किए बिना प्रदर्शन करने की उनकी क्षमता पसंद है. "यह असली चैंपियन की खासियत होती है." उन्होंने लिखा है कि वे फेटल जैसे कई अच्छे ड्राइवरों के साथ रेस में भाग लेने के लिए आभारी हैं.

फेटल ने अब तक 115 ग्रां प्री में हिस्सा लिया है तो हैमिल्टन ने 124 में. इनमें फेटेल 34 में जीते हैं जबकि हैमिल्टन को 22 जीतें मिली हैं. अपने करियर में फेटेल ने 57 बार पोल पोजीशन से ग्रां प्री की शुरुआत की है जबकि हैमिल्टन को सिर्फ 31 बार यह मौका मिला है. मंच पर जाने का मौका दोनों को लगभग बराबर मिला है. फेटेल 57 बार तो हैमिल्टन 54 बार मंच पर चढ़े हैं. लेकिन अंतिम नतीजा स्पष्ट रूप से फेटल के पक्ष में रहा है. वे तीन बार से फॉर्मूला चैंपियन हैं जबकि हैामिल्टन सिर्फ एक बार चैंपियन रहे हैं.

यह साफ नहीं है कि फेटल को अपने प्रतिद्वंद्वी का प्यार भरा संदेश टोकियो में रेस से पहले की छुट्टियों के दौरान मिला या नहीं. अपने ज्यादातर हमउम्रों और साथी स्टारों के विपरीत फेटल अब तक फेसबुक और ट्विटर पर आने से बचते रहे हैं.

एमजे/एनआर (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री