1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

हैतीः हैजे से मरने वाले 250 के पार

कैरेबियाई देश हैती में हैजे से मरने वालों की संख्या 250 के पार पहुंच गई है. लेकिन सरकार का कहना है कि तीन हजार लोगों को अपनी जकड़ में लेने वाली इस बीमारी का प्रकोप अब कम हो रहा है.

default

खतरा बना हुआ है

हैती के स्वास्थ्य विभाग के महानिदेशक गाब्रिएल थिमोत ने बताया, "सबसे ज्यादा प्रभावित इलाकों में मरने वाले और अस्पताल में भर्ती होने वाले लोगों की संख्या में कमी आ रही है. हालात स्थिर हो रहे हैं." इस बीच हफ्ते भर पहले हैती में फैले हैजा से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 253 हो गई है. अब भी लगभग 3,015 लोग हैजा से पीड़ित बताए जाते हैं जिनमें ज्यादातर मध्य ग्रामीण इलाकों के लोग हैं.

थिमोत ने बताया कि आर्तिबोनिते के जिस इलाके के अस्पताल में दर्जनों की संख्या में मौत हो रही थीं, वहां शनिवार को एक व्यक्ति के मारे जाने की खबर है. हैती इसी साल जनवरी में विनाशकारी भूकंप भी झेल चुका है जिसमें लगभग तीन लाख लोग मारे गए.

इस बीच, सयुंक्त राष्ट्र के शांति सैनिकों ने हैजे से सर्वाधिक प्रभावित क्षेत्र आर्तिबोनिते, अत्याधिक भीड़ वाली राजधानी पोर्त ओ प्रांस और केंद्रीय प्रांत में हैजे के इलाज के लिए सेंटर कायम किए हैं जिनमें हर केंद्र 150 मरीजों का इलाज कर सकता है. पोर्त ओ प्रांस में हैजे के पांच मामले

Haiti / Cholera / Kinder

तीन हजार लोग अब भी बीमारी की जकड़ में

सामने आए हैं. ये सभी लोग देश के मध्य इलाके से राजधानी में आए हैं. जानकारों का कहना है कि पोर्त ओ प्रांस के जिस इलाके में 13 लाख भूकंप पीड़ित अस्थायी घरों और शिविरों में रहे हैं, वहां हैजा फैलने का सबसे ज्यादा खतरा है. हैजे की बीमारी दूषित पानी और खाने से फैलती है.

हैती में संयुक्त राष्ट्र के मानवीय सहायता कार्यालय की प्रवक्ता इमोगेन वाल ने बताया, "हम बदतरीन हालात से निपटने की तैयारी कर रहे हैं. हमें इसके लिए तैयार रहना पड़ेगा." एक अमेरिकी संगठन से जुड़े डॉक्टर मिशेल थिरेन कहते हैं, "हैजे का एक इलाके से दूसरे इलाके में फैलना बहुत ही स्वाभाविक बात है." वह कहते हैं कि हैजे से पीड़ित मरीजों को अलग रखना होगा.

उधर, हैती के स्वास्थ्य मंत्री एलेक्स लारसेन ने लोगों से अपील की है कि वे साबुन से हाथ धोएं, कच्ची सब्जियां न खाएं, खाना और पीने के पानी को उबालें और नदी के पानी में नहाने से और उसके पानी को पीने से बचें. हैजे में उल्टी और दस्त के कारण व्यक्ति के शरीर में पानी की बेहद कमी हो जाती है. अगर इलाज नहीं किया गया तो यह बीमारी कुछ ही घंटों में जानलेवा साबित हो सकती है. लेकिन अगर जल्दी पता लग जाए तो इसका आसानी से इलाज किया जा सकता है. खासकर इसमें चीनी, नमक और पानी का साधारण घोल भी बहुत फायदेमंद रहता है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एमजी

DW.COM

WWW-Links