1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

'हेडन और साइमंड्स ने बड़ा परेशान किया'

मैदान पर ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों के व्यवहार को लेकर अक्सर विवाद होते रहे हैं. खासतौर पर मैथ्यू हेडन और एंड्रयू साइमंड्स के भारतीय खिलाड़ियों के साथ विवादों ने बहुत तूल पकड़ा. लेकिन कोई और भी है जो इनसे परेशान रहा.

default

बहुत परेशान किया

यह हैं रिटायर हो चुके अंपायर रूडी कोएर्त्जन. रूडी का कहना है कि ग्लेन मैकग्रा, एंड्रयू साइमंड्स और मैथ्यू हेडन को संभालना बहुत मुश्किल रहा. उन्होंने कहा कि मैकग्रा हमेशा शिकायतें करते रहते थे, जबकि साइमंड्स और हेडन पर कड़ी निगाह रखनी पड़ती थी.

साउथ अफ्रीकी अंपायर रूडी ने 1992 से 2010 के बीच 108 टेस्ट मैचों में अंपायरिंग की. वह अपने करियर में इन तीनों खिलाड़ियों को सबसे मुश्किल मानते हैं.

Cricketspieler Glenn McGrath 2007

ग्लेन मेकग्राथ

एक क्रिकेट वेबसाइट को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा, "मैदान पर अपने व्यवहार की वजह से ग्लेन मैकग्रा सबसे मुश्किल गेंदबाज रहे. वह उन लोगों में से नहीं थे जो खुश रह सकें. उन्हें हमेशा कोई न कोई शिकायत रहती थी. अगर उन्हें विकेट नहीं मिल रही होती और बैट्समैन दो चार चौके लगा देता तो वह परेशान हो जाते."

रूडी कहते हैं कि बहुत भाग्यशाली हैं कि 99 फीसदी खिलाड़ियों के साथ उनकी अच्छी पटती थी, लेकिन सबके साथ नहीं. उन्होंने कहा, "एक आध खिलाड़ी तो हमेशा ऐसा मिल जाता, जिसका बहुत ध्यान रखना पड़ता. उनके सामने तो आपको एक पुलिसवाले की तरह व्यवहार करना पड़ता था. मसलन जब एंड्रयू साइमंड्स या मैथ्यू हेडन फील्डिंग कर रहे होते तो हमेशा सावधान रहना पड़ता, क्योंकि अगर वे मैदान पर हैं तो कुछ न कुछ जरूर होना होता था."

रूडी ने कहा कि अगर चीजों को वक्त पर न संभाला जाए तो उनके हाथ से निकलते देर नहीं लगती थी. रूडी पिछले महीने रिटायर हुए. उन्होंने इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच लीड्स मैदान पर खेले गए मैच में आखिरी बार अंपायरिंग की.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः आभा एम