1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

हिरासत में भेजे गए जूलियन अंसाज

लंदन की अदालत ने विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज की जमानत की अर्जी खारिज कर दी गई. उन्हें हफ्ते भर की न्यायिक हिरासत में भेजा गया. खुफिया दस्तावेजों को लीक करने वाले असांज को ब्रिटिश पुलिस ने लंदन में गिरफ्तार किया.

default

लंदन में दी गिरफ्तारी

विकीलीक्स के संस्थापक जूलियन असांज को लंदन की एक अदालत ने ज़मानत देने से इनकार कर दिया है. यूरोपीय वांरट के आधार पर असांज को मंगलवार को लंदन में गिरफ्तार किया गया. अदालत ने उन्हें सात दिन की हिरासत में भेज दिया है. असांज पर बलात्कार और असुरक्षित यौन संबंध बनाने के आरोप हैं.

हालांकि 39 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांज इन आरोपों से इनकार करते हैं. उनके वकील मार्क स्टीफेंस का कहना है कि ये आरोप आपसी सहमति के आधार पर लेकिन असुरक्षित यौन संबंध स्थापित करने से उभरे हैं. यह मामला अगस्त 2010 का है. स्टीफेंस का कहना है कि स्वीडिश जांचकर्ताओं ने इस मामले को राजनीतिक रंग दे दिया है.

उधर, लंदन पुलिस ने बताया कि स्थानीय समय के अनुसार सुबह साढ़े नौ बजे एक पुलिस स्टेशन में असांज को गिरफ्तार किया गया. इससे पहले असांज ने पुलिस के सामने समर्पण किया. खुद असांज के वकील ने पुलिस से उनकी मुलाकात तय कराई. लंदन पुलिस ने एक बयान में कहा, "उन पर स्वीडन के अधिकारियों ने गैरकानूनी जबरदस्ती के मामले में एक आरोप, यौन छेड़छाड़ के मामले में दो आरोप और बलात्कार के मामले में एक आरोप लगाया है." मंगलवार को ही असांज को वेस्टमिन्स्टर के मजिस्ट्रेट के सामने पेश होना है.

इससे पहले वकील ने बताया कि असांज स्कॉटलैंड यार्ड से बात करने को तैयार हैं. सोमवार को ब्रिटिश पुलिस को स्वीडन की तरफ से भेजा गया असांज का गिरफ्तारी वारंट मिला. अंतरराष्ट्रीय पुलिस एजेंसी इंटरपोल ने 30 नवंबर को असांज के नाम सर्वाधिक वांछित लोगों की सूची में शामिल किया. पिछले हफ्ते स्वीडन की सुप्रीम कोर्ट ने असांज को हिरासत में लिए जाने के आदेश को सही ठहराया.

गोपनीय दस्तावेजों को उजागर कर दुनिया में तलहका मचाने वाली वेबसाइट विकीलीक्स पर हर तरफ से दबाव बढ़ता जा रहा है. स्विस अधिकारियों ने असांज के बैंक खाते को सील कर दिया है जिससे वह चंदा नहीं जुटा पाएंगे. यही नहीं, दुनिया भर की सरकारों के हैकरों की तरफ से हमलों के चलते विकीलीक्स को अपनी वेबसाइट ऑनलाइन बनाए रखने में बहुत परेशानियां आ रही हैं.

विकीलीक्स की ओर से अब तक के सबसे सनसनीखेज खुलासों में एक रविवार को किया गया. 2009 के इस खुफिया अमेरिकी केबल में दुनिया भर की उन जगहों के बारे में जानकारी दी गई है जिन्हें अमेरिका अपनी सुरक्षा के लिए सबसे खतरनाक समझता है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ए कुमार

संपादन: प्रिया एसेलबोर्न

DW.COM

WWW-Links