1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

हिंसक हुए राम रहीम के समर्थक

हरियाणा में पंचकुला की विशेष अदालत सोमवार को बाबा गुरमीत राम रहीम को सजा सुनाएगी. अदालत के फैसले के बाद हरियाणा, पंजाब और दिल्ली में हिंसा और आगजनी शुरू हुई.

पंचकुला की विशेष अदालत ने बाबा गुरमीत राम रहीम को भारतीय दंड संहिता की धारा 377 के तहत दोषी माना है और इसके मुताबिक उन्हें सात से 10 साल की कैद की सजा हो सकती है. अदालत के फैसले के बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया है. सौ गाड़ियों के विशाल काफिले को साथ लेकर गुरमीत राम रहीम अदालत के सामने शुक्रवार को पेश हुए. अदालती कार्रवाई के दौरान हजारों की तादाद में उनके समर्थक अदालत परिसर के पास जमा हो गये. शहर और आसपास के इलाके में शांति व्यवस्था बनाये रखने के लिए पिछले तीन दिन से हजारों की तादाद में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है. ना सिर्फ पंचकुला बल्कि हरियाणा और पंजाब में सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट पर रखा गया है और लोगों के इकट्ठा होने पर रोक लगा दी गई है. प्रशासन को आशंका है कि बाबा गुरमीत राम रहीम के समर्थक गड़बड़ी फैला सकते हैं. एक दिन पहले वहां इंटरनेट की सेवा भी बंद कर दी गई. फैसला सुनाए जाने के बाद बाबा के समर्थकों ने शहर में तोड़फोड़ की. पंचकुला के कुछ इलाकों में कर्फ्यू लगाना पड़ा है. कुछ मीडिया संस्थानों से जुड़े लोग भी समर्थकों की हिंसा की चपेट में आए हैं.

Indien - Guru und Religiöser Führer - Gurmeet Ram Rahim Singh Insan (picture-alliance/AP Photo/T. Topgyal)

2002 के बलात्कार के मामले में राम रहीम दोषी करार

इस बीच वरिष्ठ पुलिस अधिकारी अमिताभ सिंह ढिल्लन ने समाचार एजेंसी एएनआई से कहा है, "हालात पूरी तरह से नियंत्रण में हैं और हमें इसे अनावश्यक रूप से सनसनीखेज नहीं बनाना चाहिए."

बाबा राम रहीम खुद को ट्वीटर पर "अध्यात्मिक संत" और "हरफनमौला खिलाड़ी" बताते हैं. उन पर महिलाओं के बलात्कार का मामला साल 1999 का है. 50 साल के गुरु राम रहीम इन आरोपों से इनकार करते है. तड़क भड़क वाली जीवनशैली और भारी जेवरों से लैस अलग अलग तरह की रंग बिरंगी पोशाकें पहनने वाले बाबा खुद को रॉकस्टार के रूप में भी पेश करते हैं. उन्होंने अपना म्यूजिक अलबम बनाने के साथ ही पांच फिल्में भी बनाई हैं. इन फिल्मों में अभिनय से लेकर निर्देशन, और लेखन से लेकर दूसरे तमाम काम भी उन्होंने खुद ही किये हैं. वह डेरा सच्चा सौदा के प्रमुख हैं और यह समूह हरियाणा में अध्यात्मिक गतिविधियों के लिए जाना जाता है जिसके लाखों की तादाद में समर्थक हैं. उनके खिलाफ बलात्कार का मामला तब सामने आया जब एक अज्ञात महिला की ओर से तब के प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को चिट्ठी लिखी गयी. महिला का दावा था कि वो दूसरे संप्रदाय की है और राम रहीम ने उसके और कई और महिलाओं के साथ कई बार बलात्कार किया है.

Indien Panchkula Guru Religiöser Führer Vergewaltigung (Getty Images/M.Sharma)

हिंसा में कम से कम 10 लोगों की मौत

इसके बाद इस मामले की सुनवाई शुरू हुई और जज ने सीबीआई को इसकी जांच का जिम्मा सौंपा. इसके कई सालों के बाद 2007 में दो और महिलाओं ने सामने आकर गुरमीत राम रहीम पर बलात्कार का आरोप लगाया. इन आरोपों के अलावा भी गुरमीत राम रहीम कई और विवादों में फंसते रहे हैं. 2015 में उन पर ये आरोप भी लगा कि उन्होंने 400 पुरुषों को नसबंदी के लिये उकसाया ताकि वो ईश्वर के ज्यादा करीब जा सकें. इसके अलावा 2002 में उन पर एक पत्रकार की हत्या की साजिश रचने के भी आरोप लगे.

हालांकि इन सब के बावजूद उनके भक्तों की विशाल संख्या लगातार बनी हुई है. उनके भक्त मानते है कि उन्होंने उनका जीवन बदल दिया है. समर्थकों का दावा है कि राम रहीम का संगठन लोगों को शराब की लत छुड़ाने में मदद करता है. 60 साल के गजेंद्र सिंह कहते हैं, "मैं डेरा के अभियान से दो दशकों से जुड़ा हूं और तब से मैंने एक बूंद भी शराब नहीं पी है. पहले लोग मुझ पर ध्यान नहीं देते थे लेकिन अब मेरे साथ पूरा नेटवर्क है."

राम रहीम का सिख समुदाय से भी विवाद होता रहा है. 2015 में उनकी फिल्म मैसेंजर ऑफ गॉड को लेकर भी विवाद हुआ जिसमें उन्हें चमत्कार करते दिखाया गया था. फिल्म में वो गाना गाते, गुंडे बदमाशों को मारते और लोगों के बीच चमत्कार करते नजर आये. पंजाब में सिखों ने इसे लेकर भारी विरोध जताया. उनकी शिकायत है कि राम रहीम उनके धर्म को हानि पहुंचा रहे हैं.

बीते कुछ सालों से भारत में इस तरह के गुरुओं के कानून शिकंजे में फंसने की कई घटनायें हुई हैं. 2014 में गुरु रामपाल महाराज के खिलाफ जब कोर्ट ने गिरफ्तारी का वारंट जारी किया तो उन्होंने खुद को अपने आश्रम में बंद कर लिया और उनके समर्थकों ने पूरे आश्रम की घेरेबंदी कर दी. इन लोगों के हाथ में पत्थर, पेट्रोल बम और दूसरे हथियार थे. रामपाल पर हत्या की साजिश रचने समेत कई तरह के आरोप थे. आखिरकार काफी मशक्कत और कई दिन के इंतजार के बाद पुलिस और सुरक्षा बलों ने बल प्रयोग कर उन्हें गिरफ्तार किया. इस रस्साकशी में छह लोगों की मौत हुई.

इसी तरह जनवरी 2014 में आशुतोष महाराज को लेकर विवाद हुआ जब उनकी मौत हो गई. उनके समर्थक मानते हैं कि वो समाधि में चले गये है और उनके शरीर को फ्रीजर में संरक्षित करके रखा है. उनका शव करीब 100 एकड़ में फैले पंजाब के उनके आश्रम में रखा है.

गुजरात के संत के रूप में उभरे आसाराम बापू अपने समर्थकों को वैलेंटाइन डे मनाने से रोकते थे. 2013 में उन पर 16 साल की एक लड़की ने बलात्कार का आरोप लगाया. लड़की का कहना था 76 साल के आसाराम ने उस लड़की के अंदर दुष्ट आत्माओं के होने की बात कह उसे ठीक करने के नाम पर ये सब किया था. उसके बाद उनके खिलाफ नाबालिगों के साथ कई यौन अपराध के आरोप लगे और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया. उनकी गिरफ्तारी के दौरान भी उनके समर्थकों ने पुलिस औऱ मीडिया के लोगों से मारपीट की.

स्वामी नित्यानंद का मामला भी लंबे समय तक भारतीय मीडिया की सुर्खियों में रहा. स्वामी नित्यानंद पर कई तरह के यौन अपराधों के आरोप लगे हालांकि उन्हें अभी तक अदालत ने दोषी करार नहीं दिया है. कर्नाटक के इस 40 साल के गुरू पर पांच महिलाओं ने यौन शोषण करने का आरोप लगाया था. 2010 में सेक्स स्कैंडल का एक वीडियो सामने आने के बाद उन्हें 53 दिनों के लिए जेल भी जाना पड़ा. स्थानीय चैनल पर उनके सेक्स स्कैंडल का वीडियो दिखाने के बाद आसपास के लोगों ने उनके आश्रम पर धावा बोल दिया था.

एनआर/एमजे (रॉयटर्स, एएफपी, डीपीए)

संबंधित सामग्री